NEP-2020 महत्वाकांक्षी और भविष्यवादी, सफलता लागू करने पर निर्भर करेगीः डा. शिप्रा

0 97


गुरु हरगोबिंद पब्लिक स्कूल सिधवां खुर्द में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के अवसर पर प्रिंसिपल पवन सूद के नेतृत्व में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर राष्ट्रीय वेबिनार में चर्चा की। इसका मुख्य विषय भारतीय विद्यालय की पुन: कल्पना था। इसमें डा. शिप्रा गुप्ता, एसोसिएट प्रोफेसर कानून विभाग, पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़ मुख्य वक्ता रहीं। प्रिंसिपल पवन सूद ने अध्यक्ष बरिंद्र सिंह सिद्धु, ट्रस्ट के सदस्यों व प्रमुख वक्ताओं व वेबिनार में शामिल होने वाले अन्य प्रतिभागियों का स्वागत किया।

प्रिंसिपल पवन सूद ने कहा कि इस वेबिनार का उद्देश्य स्कूल शिक्षा प्रणाली के विभिन्न पहलुओं, परिवर्तनों व सिफारिशों की गहन जानकारी करना है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों, विद्यार्थियों व अधिकारियों के बीच राष्ट्रीय शिक्षा नीति के बारे में जागरूकता पैदा करने की आवश्यकता है। हम सब एक साथ मिलकर ही ज्ञानमहाशक्ति बनने में भारत की मदद कर सकते हैं। तमन्ना खन्ना ने डा. शिप्रा की शैक्षणिक उपलब्धियों व समाज के लिए उनके योगदान के बारे में बताया। डा. शिप्रा गुप्ता ने स्कूल शिक्षा प्रणाली के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति के विभिन्न पहलुओं व सिफारिशों के बारे में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 उस समकालीन व्यवस्था को लागू करती है, जो हमारे राष्ट्र को बदलने और उन्नति के मार्ग पर लाने के लिए जरूरी है। एनईपी महत्वाकांक्षी और भविष्यवादी है लेकिन इसकी सफलता इस बात पर निर्भर करेगी कि इसे कैसे निष्पादित किया है।


नवरीत कौर ने 200 प्रतिभागियों के साथ प्रश्न-उत्तर स्तर आयोजित किए। देश के विभिन्न हिस्सों से शिक्षक व छात्र वेबीनार में शामिल हुए। तमन्ना खन्ना ने वेबिनार का संचालन किया। प्रिंसिपल पवन सूद ने डा.शिप्रा गुप्ता, ट्रस्ट के सदस्यों व शिक्षकों व सभी प्रतिभागियाें का धन्यवाद किया।