NCP Crisis: महाराष्ट्र की राजनीति में हाहाकार, एनसीपी में दो फाड़

2

महाराष्ट्र में सियासी सरगर्मी तेज हो गयी है. अजित पवार की बगावत के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी दो फाड़ में बंट चुकी है. एनसीपी में ड्रामा जारी है. एक ओर अजित पवार ने पार्टी पर अपना दावा ठोक दिया है, तो दूसरी ओर शरद पवार ने बगावत करने वाले सभी 9 विधायकों को पार्टी से निकाल दिया है और जयंत पाटिल को नया प्रदेश अध्यक्ष बना दिया. लेकिन इसी बीच महाराष्ट्र के नये डिप्टी सीएम अजित पवार ने जयंत पाटिल को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाकर सनील तटकरे को इस पद पर नियुक्त कर दिया है.

राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष होने के नाते प्रफुल्ल पटेल ने सनील तटकरे को बनाया प्रदेश अध्यक्ष

सुनील तटकरे को प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त करने पर बागी विधायक प्रफुल्ल पटेल ने कहा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष होने के नाते मैंने महाराष्ट्र( प्रदेश अध्यक्ष) कि जिम्मेदारी सुनील तटकरे को देने का फैसला किया है. उन्होंने कहा, अनिल भाईदास पाटिल को हमने फिर से महाराष्ट्र विधानसभा में NCP का मुख्य सचेतक नियुक्त किया. इधर सुनील तटकरे ने कहा, मैंने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष का पदभार संभाल लिया है. मैं महाराष्ट्र में पार्टी को मजबूत करूंगा. मैंने पार्टी के सभी नेताओं को विश्वास में लिया है. मैंने सभी विधायकों और जिला परिषद नेताओं की बैठक भी बुलाई है.

क्या आप भूल गए हैं कि शरद पवार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं : अजित पवार

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार से जब एनसीपी चीफ को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, क्या आप भूल गए हैं कि शरद पवार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं. इधर NCP नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा, हमारी उनको (शरद पवार) हाथ जोड़कर विनती है कि पार्टी के बहुसंख्यक वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं की इच्छा का वे आदर करें. उनका आशीर्वाद हम पर और पार्टी पर हमेशा बना रहे.

शरद पवार प्रफुल्ल पटेल और सांसद तटकरे को किया निष्कासित

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) से बगावत पर बड़ी कार्रवाई करते हुए एनसीपी चीफ शरद पवार ने पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल और लोकसभा सदस्य सुनील तटकरे को ‘पार्टी विरोधी’ गतिविधियों के चलते निष्कासित कर दिया है. पवार ने यह कदम अजित पवार के एकनाथ शिंदे- भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार में बतौर उपमुख्यमंत्री शामिल होने के बाद उठाया है. शरद पवार ने ट्वीट किया, मैं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष पार्टी विरोधियों गतिविधियों की वजह से श्री सुनील तटकरे और श्री प्रफुल्ल पटेल को राकांपा पार्टी सदस्यों के रजिस्टर से हटाने का आदेश देता हूं.

अजित पवार ने शरद पवार से बगावत कर शिंदे सरकार को किया समर्थन

गौरतलब है कि अजित पवार ने अपने 17 विधायकों के साथ शरद पवार से बगावत करते हुए एकनाथ शिंदे सरकार का समर्थन किया. रविवार को अजित पवार ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली, तो एनसीपी के आठ अन्य विधायकों ने भी मंत्री पद की शपथ ली. अजित पवार ने दावा किया है कि एनसीपी के 40 विधायकों का उन्हें समर्थन प्राप्त है. उन्होंने एनसीपी और चुनाव चिह्न पर भी दावा ठोक दिया है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.