Mumbai Murder: 16 साल पहले राशन की दुकान पर अपनी पार्टनर से मिला था दुर्दांत हत्यारा, आत्महत्या का कर रहा दावा

6

मुंबई : महाराष्ट्र के ठाणे में मीरा रोड में लिव-इन-रिलेशनशिप में रहने वाली महिला का निर्मम तरीके से हत्या करने वाले मामले में एक नया खुलासा हुआ है. आरोप है कि महिला के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रहने वाले 56 साल के मनोज साहनी ने पहले हत्या की वारदात को अंजाम दिया और फिर लाश को ठिकाने के लगाने के लिए उसने उसे कई टुकड़ों में काट दिया और फिर कूकर में उबालकर उसे ठिकाने लगाता था. उस महिला की पहचान सरस्वती वैद्य के रूप में की गई है. ये दोनों मीरा रोड के एक फ्लैट में पिछले तीन साल से एक साथ रह रहे थे. मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, मनोज साहनी और सरस्वती वैद्य की मुलाकात करीब 16 साल पहले राशन की एक दुकान पर हुई थी.

महिला का शव देखकर डर गया था मनोज?

मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी 56 वर्षीय मनोज साहनी ने 23 साल की सरस्वती की पहले हत्या कर दी. पुलिस की पूछताछ में उसने महिला की हत्या करने से इनकार कर दिया. फिर जब मनोज से यह पूछा कि उसने महिला के शव के टुकड़े क्यों किए? इस सवाल के जवाब में उसने कहा कि महिला के शव को देखकर वह काफी डर गया था और वह उसे किसी भी तरीके से ठिकाने लगाना चाहता था. पुलिस ने उसे बुधवार की रात को गिरफ्तार कर गुरुवार को एक स्थानीय अदालत में पेश किया, जहां से उसे पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया.

राशन की दुकान पर हुई थी मुलाकात

मीडिया की रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि मरने वाली 32 वर्षीय महिला सरस्वती वैद्य अनाथ थी और करीब 16 साल पहले राशन की एक दुकान पर मनोज साहनी की उससे मुलाकात हुई थी. मनोज ने पुलिस को बताया कि जिस राशन की दुकान पर उसकी सरस्वती की मुलाकात हुई, वह उस दुकान पर काम करता था. उसने यह भी बताया कि दोनों एक ही बिरादरी के थे. इस मुलाकात के बाद दोनों के बीच रिश्ता बनते चले गए और तीन साल पहले वे दोनों मीरा रोड के एक फ्लैट में रहने के लिए चले आए.

महिला ने जहर खाकर दी जान?

पुलिस की पूछताछ में मनोज साहनी ने दावा किया कि पिछले 4 जून को सरस्वती ने जहर खा लिया था. इसके बाद उसके मुंह से झाग आने लगा, जिससे वह काफी डर गया. उसे यह भी लगा कि उसके खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज किया जाएगा. इसीलिए उसने महिला के शव के टुकड़े करने के लिए लकड़ी काटने वाली मशीन खरीदी और फिर उसे कई टुकड़ों में बांट दिया.

महिला के शव का पैर उबालने से पहले पहुंच गई पुलिस

मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, मनोज साहनी महिला के शव को लकड़ी काटने वाली मशीन से पहले टुकड़े करता था. फिर उसे कूकर में उबालता था और तब उसे ठिकाने लगाता था. मनोज के फ्लैट से आने वाली बदबू की वजह से फ्लैट में रहने वाले उसके पड़ोसियों को कुछ शक हुआ. उन्होंने इस बात की जानकारी पुलिस को दी. पड़ोसियों की सूचना पर पुलिस जब मनोज साहनी के किचेन में पहुंची, तो महिला के शव के कटे पैर को कूकर में उबालने जा रहा था. तभी पुलिस ने उसे धर दबोचा.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.