Maha Political Crisis Live : ‘चाचा-भतीजे’ में सियासी घमासान जारी, मुंबई में आज बैठक करेंगे शरद-अजीत पवार

62

शरद पवार ने बैठक में शामिल होने के लिए जारी किया व्हिप

मुंबई में होने वाली आज पांच जुलाई को एनसीपी की बैठक के लिए पार्टी प्रमुख शरद पवार ने मंगलवार को सभी विधायकों को ‘व्हिप’ जारी कर उन्हें मौजूद रहने का निर्देश दिया है. चीफ व्हीप जितेन्द्र आव्हाड ने एक पंक्ति वाले इस व्हिप में कहा है कि शरद पवार ने पांच जुलाई को वाई बी चव्हाण सेंटर में अपराह्न एक बजे बैठक बुलाई है और सभी विधायकों की उपस्थिति अनिवार्य है. अजित पवार के शिवसेना-भाजपा सरकार में आठ अन्य विधायकों के साथ रविवार को शामिल होने के बाद शरद पवार ने आव्हाड को चीफ व्हीप नामित किया है.

मुंबई में बैठक करेगा अजित पवार गुट

उधर खबर यह भी है कि एनसीपी का अजित पवार गुट भी बुधवार को मुंबई में एक अलग बैठक करेगा. अजित पवार गुट ने महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष से प्रदेश एनसीपी प्रमुख जयंत पाटिल और जितेन्द्र आव्हाड को सदन की सदस्यता से अयोग्य घोषित करने की मांग की है. विधानसभा में एनसीपी के कुल 53 विधायक हैं.

कांग्रेस की मैराथन बैठक में नेता प्रतिपक्ष के पद पर फैसला नहीं

महाराष्ट्र के राजनीतिक घटनाक्रम पर मंगलवार को कांग्रेस विधायक दल की मैराथन बैठक में नेता प्रतिपक्ष पर कोई फैसला नहीं हो सका. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एचके पाटिल ने कहा कि पार्टी महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता के पद पर सही समय पर फैसला करेगी. महाराष्ट्र के कांग्रेस प्रभारी पाटिल ने यह भी कहा कि एनसीपी नेता अजित पवार के शिवसेना-भाजपा सरकार में शामिल होने के मद्देनजर राज्य में राजनीतिक घटनाक्रम के बीच पार्टी इंतजार करेगी. कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) के नेता बालासाहेब थोराट ने कहा कि बैठक में राज्य की राजनीतिक स्थिति, कांग्रेस और महा विकास आघाड़ी (एमवीए) की रणनीति पर चर्चा हुई.

एकनाथी शिवसेना की कोर समिति की बैठक

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना की कोर समिति ने अजित पवार सहित एनसीपी नौ विधायकों के प्रदेश सरकार में शामिल होने के बाद राज्य में उपजे राजनीतिक हालात पर चर्चा के लिए मंगलवार रात यहां एक बैठक की. पार्टी के एक सूत्र ने बताया कि यह बैठक स्कूल शिक्षा मंत्री दीपक केसरकर के आधिकारिक आवास पर हुई. महाराष्ट्र में मौजूदा मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री शिंदे सहित शिवसेना के दस मंत्री हैं. मंत्रिमंडल में भाजपा के भी इतने ही मंत्री शामिल हैं.

शरद पवार से मिलकर बदल गया मन : अमोल कोल्हे

एनसीपी सांसद अमोल कोल्हे ने कहा कि वह महाराष्ट्र के हालिया घटनाक्रम से व्याकुल थे और पार्टी छोड़ना चाहते थे, लेकिन पार्टी प्रमुख शरद पवार से मिलकर अपने मन की बात कहने के बाद उनका विचार बदल गया. पेशे से अभिनेता अमोल कोल्हे राजभवन में अजित पवार के एकनाथ शिंदे नीत सरकार में उपमुख्यमंत्री पद की और आठ अन्य एनसीपी विधायकों के मंत्री पद की शपथ लेने के दौरान मौजूद थे. उन्होंने बाद में बयान जारी करके कहा था कि उनकी निष्ठा शरद पवार के साथ है.

राज ठाकरे का दावा : महाराष्ट्र के नये राजनीतिक घटनाक्रम को शरद पवार का आशीर्वाद

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के अध्यक्ष राज ठाकरे ने दावा किया कि राज्य के ताजा राजनीतिक घटनाक्रम को खुद एनसीपी के प्रमुख शरद पवार का आशीर्वाद हासिल हो सकता है. राज ठाकरे महाराष्ट्र में अजित पवार सहित राकांपा के नौ विधायकों के एकनाथ शिंदे नीत सरकार में शामिल होने के बारे में पत्रकारों से बात कर रहे थे. उन्होंने कहा कि राज्य में जो हुआ वह बेहद घृणित है. यह महाराष्ट्र के मतदाताओं के अपमान के अलावा और कुछ नहीं है. मनसे प्रमुख ने कहा कि महाराष्ट्र में इन सब चीजों की शुरुआत शरद पवार ने की. उन्होंने पहली बार 1978 में ‘पुलोद’ (पुरोगामी लोकशाही दल) सरकार का प्रयोग किया था. महाराष्ट्र ने पहले कभी ऐसे राजनीतिक परिदृश्य नहीं देखे थे. ये सारी चीजों पवार से शुरू हुईं और पवार पर ही खत्म हो गईं. उन्होंने दावा किया कि हालिया घटनाक्रम के पीछे खुद शरद पवार हो सकते हैं. राज ठाकरे ने कहा कि प्रफुल्ल पटेल, दिलीप वाल्से-पाटिल और छगन भुजबल उनमें से नहीं हैं, जो (अपने दम पर और शरद पवार के आशीर्वाद के बिना) अजित पवार के साथ जाएंगे.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.