महाराष्ट्र में ‘पाकिस्तान समर्थक’ संदेश वाला दिखा गुब्बारा, तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

45

मुंबई : महाराष्ट्र में एक गुब्बारे पर पाकिस्तान समर्थक गुब्बारा मामले में पुलिस ने एक दुकानदार समेत तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. अंग्रेजी के अखबार ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ की एक रिपोर्ट में लिखा गया है कि पुलिस ने जिन तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है, उसमें दो गुब्बारा बेचने वाले भी शामिल हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि गुब्बारे पर ‘लव पाकिस्तान’ लिखा हुआ था. इस कारण दो गुब्बारे बेचने वालों और एक दुकानदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है और पुलिस की एक टीम को मामले की जांच के लिए भेजा गया है. हालांकि, इस मामले में खबर लिखे जाने तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

मुंबई के ‘चाइना मार्केट’ से सोलापुर पहुंचे गुब्बारे

‘द इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के अनुसार, यह घटना महाराष्ट्र के सोलापुर जिले की है. रिपोर्ट में कहा गया है कि मामला सामने आने के बाद सोलापुर पुलिस जांच में जुट गई है और पाकिस्तान समर्थक गुब्बारा बेचने वालों को मुंबई के ‘चाइना मार्केट’ तक ले जाया गया है. बताया जा रहा है कि इसी मार्केट से ये गुब्बारे सोलापुर पहुंचे. रिपोर्ट के अनुसार, 29 जून को दो गुब्बारे बेचने वाले (अजय अमन पवार और शिवाजी पवार) एक खानाबदोश जनजाति के सदस्य हैं और तीसरा व्यक्ति तनवीर बागवान है. अजय अमन पवार और शिवाजी पवार ने कथित तौर पर तनवीर बागवान से गुब्बारे खरीदे थे. पुलिस की ओर से इनके खिलाफ समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाना और इच्छित कृत्यों से संबंधित आईपीसी की धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की गई थी.

बकरीद के दिन बेचा जा रहा था गुब्बारा

रिपोर्ट के अनुसार, सोलापुर के विजापुर नाका पुलिस स्टेशन ने पुलिस नाइक गणेश शिर्के की शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज की थी, जो पिछले गुरुवार को बकरीद पर शहर के आलमगीर ईदगाह में बंदोबस्त ड्यूटी पर थे. गणेश शिर्के के बयान के मुताबिक, नमाज के बाद जब लोग जाने लगे, तो उनमें से कुछ लोगों की नजर झुंड के बीच से गुब्बारे पर पड़ी और वे गुब्बारे बेचने वाले को शिर्के के पास ले गए.

गुब्बारे के पैकेट में एक गुब्बारा हरे रंग का

गणेश शिर्के ने अपनी शिकायत में कहा कि जैसे ही विक्रेता के आसपास भीड़ जमा हुई, विवाद का गुब्बारा फूट गया. उन्होंने कहा कि अमन के गुब्बारों के पैकेट में कम से कम एक गुब्बारा था, जो हरे रंग का था और उस पर पाकिस्तान का झंडा था और उर्दू में ‘हैप्पी इंडिपेंडेंस डे’ लिखा हुआ था. एफआईआर में कहा गया है कि पूछताछ के दौरान विजापुर रोड पर पारधी कॉलोनी के निवासी 20 वर्षीय अमन ने कहा कि उसने और शिवाजी ने तनवीर बागवान से गुब्बारे खरीदे, जो सोलापुर में न्यू रोशन टॉय स्टोर के मालिक थे. दोनों गुब्बारे बेचने वालों ने पुलिस को बताया कि वे पढ़े-लिखे नहीं हैं और गुब्बारों पर जो लिखा है, उसे पढ़ नहीं सकते.

क्या है आरोप

शिर्के ने कहा कि उसी वक्त मौके पर भीड़ जमा होने लगी, जिसके बाद पुलिस दोनों गुब्बारे बेचने वालों को थाने ले गई. एफआईआर में आगे लिखा है कि अजय अमन पवार और शिवाजी लक्ष्मण पवार ने हिंदू और मुस्लिम समुदायों के बीच परेशानी पैदा करने के इरादे से उक्त गुब्बारे आम जनता को बेचे. इससे दोनों समुदायों के बीच दुश्मनी बढ़ेगी और दोनों समुदायों के बीच शांति नष्ट हो जाएगी. इसलिए मुझे गुब्बारे बेचने वालों और दुकान के मालिक बागवान के खिलाफ शिकायत है.

मामले में किसी गिरफ्तारी नहीं

सोलापुर के पुलिस कमिश्नर राजेंद्र माने ने बताया कि इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. हमने उन्हें नोटिस जारी किया है. अधिकारी ने कहा कि जांच के तहत वे यह देखने की कोशिश कर रहे हैं कि गुब्बारे कहां से आये. अधिकारी ने कहा कि जब पूछताछ की गई तो बागवान ने उन्हें बताया कि गुब्बारे मुंबई की एक दुकान से खरीदे गए थे. जब हमारी टीम उस विशेष दुकान पर गई, तो मालिक अस्वस्थ था, लेकिन उसके बेटे ने हमें बताया कि इसे मुंबई के ‘चाइना मार्केट’ से खरीदा गया था. हालांकि, जब हमारे अधिकारी वहां पहुंचे तो बाजार बंद था.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.