कूनो राष्ट्रीय उद्यान में एक बार फिर गूंजी किलकारी, मादा चीता ज्वाला ने तीन शावकों को दिया जन्म, देखें वीडियो

9

मध्य प्रदेश के कूनो राष्ट्रीय उद्यान से एक अच्छी खबर सामने आ रही है. जानकारी के अनुसार, यहां एक नामीबियाई चीता ने तीन शावकों को जन्म दिया है. आपको बता दें कि कुछ हफ्तों पहले एक अन्य चीता ने तीन शावकों को जन्म दिया था. केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर इसकी जानकारी दी. उन्होंने लिखा कि कूनो के नए शावक! नामीबियाई चीता ज्वाला ने तीन शावकों को जन्म दिया है. इससे कुछ हफ्तों पहले नामीबियाई चीता आशा ने तीन शावकों को जन्म दिया था.

सोशल मीडिया पोस्ट में उन्होंने पोस्ट में कहा कि अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले सभी वन्यजीव योद्धाओं और देशभर के वन्यजीव प्रेमियों को बधाई… भारत का वन्य जीवन समृद्ध हो. यदि आपको याद हो तो कूनो राष्ट्रीय उद्यान के अधिकारियों ने तीन जनवरी को बताया था कि नामीबियाई चीता आशा ने तीन शावकों को जन्म दिया है. इससे पहले सियाया नामक एक चीता ने पिछले साल मार्च में चार शावकों को जन्म दिया था. हालांकि, उनमें से केवल एक शावक जीवित बचा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ‘प्रोजेक्ट चीता’

उल्लेखनीय है कि ज्वाला, आशा और सियाया वे चीता हैं जिन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘प्रोजेक्ट चीता’ के तहत नामीबिया से भारत लाया गया था. इस परियोजना का उद्देश्य स्वतंत्र भारत में विलुप्त हुई एकमात्र बड़ी मांसाहारी प्रजाति में वृद्धि करना है. भारत में सितंबर 2022 को आठ चीतों का पहला बैच लाया गया था. पिछले साल फरवरी में दक्षिण अफ्रीका से 12 चीतों का दूसरा बैच लाया गया था.

जब ये चीते कूनो राष्ट्रीय उद्यान में लाए गसे थे तो इसकी चर्चा जोरों पर हुई थी. इसकी तस्वीरों और वीडियो से सोशल मीडिया छा गई थी.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.