अचानक खराब हुआ फ्लाइट के टॉयलेट का दरवाजा, 100 मिनट तक फंसा रहा यात्री, जानें कैसे हुआ रेस्क्यू

7

Mumbai-Bangalore SpiceJet flight : मुंबई-बेंगलुरु स्पाइसजेट फ्लाइट में एक यात्री को 100 मिनट टॉयलेट में गुजारने पड़े. जी हां, खबर है कि फ्लाइट के टॉयलेट का दरवाजा अचानक खराब हो जाने के कारण एक यात्री लगभग दो घंटे तक फ्लाइट के टॉयलेट में ही फंसा रहा जिसे कड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया. टॉयलेट का दरवाजा तोड़ने के बाद जब उसे बाहर निकाला गया तो यात्री सदमे में था. बता दें कि उसे केम्पेगौड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे (केआईए) पर इंजीनियरों द्वारा शौचालय का दरवाजा तोड़ने के बाद बचाया गया.

करीब 2 बजे मुंबई हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी फ्लाइट

सूत्रों की मानें तो ये घटना यह घटना फ्लाइट एसजी-268 में पाई गई जिसने मंगलवार सुबह करीब 2 बजे मुंबई हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी. जानकारी हो कि इस फ्लाइट को सोमवार रात 10.55 बजे उड़ान भरनी थी लेकिन यात्री का विवरण नहीं मिलने के कारण इसमें देरी हुई. हालांकि, इस घटना पर खबर लिखे जाने तक स्पाइसजेट की तरफ से कोई भी टिप्पणी नहीं की गई थी. केआईए ग्राउंड स्टाफ के एक सदस्य ने घटना की जानकारी देते हुए कहा कि 14D सीट पर बैठा यात्री उड़ान भरने के तुरंत बाद शौचालय गया था और वहां टॉयलेट बंद हो गया था.

यात्री से संपर्क करने के लिए नोट लिखा

आगे उन्होंने पूरे घटना के बारे में बताया कि टॉयलेट का दरवाजा खराब होने के कारण वह अंदर ही फंस गया. जब यात्री हो यह पता चला कि वह फंस चुका है तो उसने अंदर से ही आवाज लगाना शुरू कर दिया. आवाज सुनकर चालक दल के लोग सतर्क हुए और दरवाजा खोलने की कोशिश करने लगे. लेकिन, खराब दरवाजे को खोल पाने में जब वो सफल नहीं हो पाए तब उन्होंने इंजीनियरों से संपर्क किया और यात्री से संपर्क करने के लिए उन्हें एक नोट लिखा.

‘कमोड का ढक्कन बंद कर दें और उस पर बैठ जाएं’

वहां एक एयर होस्टेस ने एक कागज की नोट दिया. नोट मने लिखा गया कि हमने दरवाजा खोलने की पूरी कोशिश की लेकिन, ऐसा का पाने में सफल नहीं हो पाए. साथ ही नोट में यह भी लिखा गया कि घबराओ मत. हम कुछ ही मिनटों में उतर रहे हैं. इसलिए कमोड का ढक्कन बंद कर दें और उस पर बैठ जाएं और खुद को सुरक्षित कर लें. उन्होंने कहा कि जैसे ही मुख्य दरवाजा खुलेगा, इंजीनियर आ जाएगा और हम आपको सुरक्षित बाहर निकाल लेंगे.

यात्री क्लॉस्ट्रोफोबिया के कारण पूरी तरह से सदमे में

जानकारी हो कि फ्लाइट मंगलवार सुबह 3.42 बजे लैंड हुई. इंजीनियर विमान में चढ़े, दरवाज़ा तोड़ा और दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद उस व्यक्ति को बचाया. यात्री को तुरंत प्राथमिक उपचार के लिए ले जाया गया. अधिकारी ने जानकारी देते हुए कहा है कि यात्री क्लॉस्ट्रोफोबिया के कारण पूरी तरह से सदमे में था. हालांकि, अभी उसकी हालत कैसी है इसे लेकर कोई अपडेट सामने नहीं आया है लेकिन, वह खतरे से बाहर बताया जा रहा है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.