MP Viral Video: लोकायुक्त ने रंगे हाथों पकड़ा तो घूस के पैसे चबा गया पटवारी, देखें वीडियो

5

Madhya Pradesh Viral Video : मध्य प्रदेश का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसपर लोग लगातार प्रतिक्रिया दे रहे हैं. बताया जा रहा है कि वीडियो कटनी का है, जहां राजस्व विभाग के एक पटवारी ने लोकायुक्त की विशेष पुलिस स्थापना (SPE) की एक टीम को देखकर कथित तौर पर 4500 रुपये की रिश्वत राशि निगल ली. इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो न्यूज एजेंसी एएनआई ने अपने ट्विटर वॉल पर शेयर किया है. वायरल वीडियो को लगातार सोशल मीडिया पर लोग शेयर कर रहे है.

खबरों की मानें तो मध्य प्रदेश के कटनी में राजस्व विभाग के एक पटवारी ने सोमवार को लोकायुक्त की विशेष पुलिस स्थापना (एसपीई) की एक टीम को देखकर कथित तौर पर रिश्वत के रूप में ली गयी रकम निगल ली. इस घटना का वीडियो वायरल है जिसमें नजर आ रहा है कि पटवारी एक अस्पताल में है और अपना मुंह चला रहा है. उसके सामने एक सर्जिकल बाउल लेकर वार्ड ब्वाय खड़ा है.

क्या है पूरा मामला

मामले को लेकर लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक संजय साहू ने जो जानकारी दी है, उसके अनुसार यह घटना तब हुई जब पटवारी गजेंद्र सिंह को अपने निजी कार्यालय में रिश्वत के रूप में 5000 रुपये मिले. अधिकारी ने कहा कि बरखेड़ा गांव के एक व्यक्ति ने हमसे शिकायत की थी कि सिंह रिश्वत की डिमांड कर रहा है. पैसे मिलने के बाद पटवारी ने एसपीई टीम को देखा और पैसे निगलने का प्रयास करने लगा. इसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने कहा कि वह ठीक है. उन्होंने कहा कि उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच की जा रही है.

मीडिया में जो खबरें हैं उसके अनुसार, लोकायुक्त की टीम ने नोटों को निकलवाने का पूरा प्रयास किया. लेकिन उसने मुंह से रुपये नहीं निकाले तो उसे जिला चिकित्सालय ले जाया गया. जोर जबरदस्ती के बाद पटवारी गजेंद्र सिंह ने रिश्वत के चबे नोटों को पेट से निकाला. इस घटना के सामने आने के बाद सभी हैरान है. इस वीडियो की चर्चा केवल मध्य प्रदेश में ही नहीं बल्कि पूरे देश में हो रही है.

पटवारी भर्ती परीक्षा को लेकर मध्य प्रदेश में हंगामा

इस बीच आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में पटवारी भर्ती परीक्षा को लेकर राजनीति गरम है. पटवारी भर्ती परीक्षा को लेकर राजधानी भोपाल में हजारों की संख्या में अभ्यर्थियों ने पिछले दिनों शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया. इस प्रदर्शन को लेकर कांग्रेस की प्रतिक्रिया सामने आयी. प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने अपने ट्विटर वॉल पर लिखा कि पटवारी भर्ती परीक्षा में हुए घोटाले को लेकर भोपाल में हजारों की संख्या में अभ्यर्थी शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं. मैं इनके प्रदर्शन का समर्थन करता हूं.

क्या है पटवारी भर्ती परीक्षा मामला

गाेर हाे कि पिछले दिनों मीडिया में खबर आयी थी जिसमें, विपक्ष द्वारा इस भर्ती घोटाले के तार भाजपा विधायक संजीव कुमार कुशवाह से जोड़ने की सूचना थी. मीडिया रिपोर्ट की मानें तो, पटवारी भर्ती परीक्षा में टॉप करने वाले 10 छात्रों में से 7 ग्वालियर के एनआरआई कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से हैं जिसके मालिक भिंड के विधायक संजीव कुशवाह बताये जा रहे हैं. मामले पर मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान भी सामने आया था. उन्होंने कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि चुनाव नजदीक आते ही कांग्रेस ने परीक्षा में गड़बड़ी का मामला उठाना शुरू कर दिया. यह पूरी तरीके से कांग्रेस की साजिश का हिस्सा प्रतीत हो रहा है.

सीएम शिवराज ने लिया ये फैसला

मध्य प्रदेश में पटवारी परीक्षा को लेकर जमकर हंगामा हुआ. इसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा फैसला लिया. उन्होंने प्रदेश कर्मचारी चयन मंडल द्वारा समूह- दो, उप समूह-चार एवं पटवारियों के लिए आयोजित की गयी भर्ती परीक्षा में अनियमितताओं का आरोप लगने के बाद इस परीक्षा के आधार पर की जाने वाली नियुक्तियों पर रोक लगा दी. सीएम शिवराज के इस फैसले के पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी बहन एवं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी द्वारा मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार पर पटवारियों के लिए आयोजित की गयी भर्ती परीक्षा में अनियमितताओं का आरोप लगाया गया था.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.