MP Jail Prahari Vacancy: 300 पदों के लिए तीन लाख से ज्यादा उम्मीदवारों ने किए आवेदन, जानिए पूरी डिटेल

0 112

 देश में लोगों के पास अच्छी डिग्री तो है पर नौकरी नहीं है। किसी भी क्षेत्र में कुछ वैकेंसी निकलती है तो लाखों लोग एक साथ अप्लाई कर देते हैं। इसमें एमबीए, बीटेक और एमटेक डिग्री वाले भी आवेदन करते हैं। ऐसा ही कुछ मध्य प्रदेश में देखने को मिला है। राज्य में इंजीनियर और एमबीए डिग्रीधारियों ने भी जेल प्रहरी बनने के लिए रुचि दिखाई है। इस बात की जानकारी जेल प्रहरी भर्ती परीक्षा के लिए आए आवेदनों में सामने आई है।

मध्य प्रदेश में नवंबर माह में होने वाली प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड यानी PEB की जेल प्रहरी भर्ती परीक्षा के लिए तीन लाख से ज्यादा उम्मीदवारों ने आवेदन किए हैं। हालांकि भर्ती केवल 300 पदों पर होनी है। इस लिहाज से एक पद के लिए एक हजार से ज्यादा दावेदार होंगे। इस पद के लिए आवेदन करने वालों में से दस हजार से अधिक उम्मीदवार इंजीनियरिंग और एमबीए डिग्रीधारी हैं, जबकि जेल प्रहरी का वेतन 25 से 30 हजार रुपये के बीच है।

कोरोना संक्रमण के चलते नहीं हो सकी परीक्षा

इसके पूर्व साल 2017 में यह भर्ती परीक्षा हुई थी। तीन साल बाद PEB फिर एक बार जेल विभाग के लिए जेल प्रहरी भर्ती परीक्षा कराने जा रहा है। तीन साल भर्ती परीक्षा नहीं होने से इस बार बड़ी संख्या में उम्मीदवार परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं। पहले अप्रैल माह में परीक्षा का आयोजन होना था लेकिन तब कोरोना संक्रमण के कारण परीक्षा नहीं हो सकी। अनलॉक के बाद पीईबी ने 27 जुलाई को विज्ञापन जारी कर आवेदन का सिलसिला शुरू किया था। आवेदन की अंतिम तारीख 10 अगस्त रखी थी। लेकिन इस दौरान कम संख्या में आवेदन आने की वजह से इसे बढ़ा दिया, जिसके बाद आवेदन की अंतिम तारीख 24 अगस्त तय की गई। अंतिम तारीख तक तीन लाख से ज्यादा आवेदन आए हैं।

मैरिट के आधार पर होगा चयन

जेल प्रहरी के 300 पदों में से बीस फीसद पद संविदा के होंगे। यानी एक तय समय सीमा के लिए ही इन पदों पर उम्मीदवारों का चयन होगा। चयन पूरी तरह से मैरिट के आधार पर होगा। 240 पद नियमित जेल प्रहरी के होंगे, जबकि 60 पद संविदा के होंगे।