गूगल पर ‘घोटाला’ खोजेंगे और शिवराज सिंह चौहान की तस्वीर नजर आएगी, कांग्रेस का कटाक्ष, जानें क्या बोले कमलनाथ

16

मध्य प्रदेश में चुनाव के पहले भ्रष्टाचार का मामला गरमाया हुआ है. शुक्रवार को प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने मामले को लेकर फिर एक बार घेरा. उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार भ्रष्टाचार की सिरमौर है. आज कांग्रेस पार्टी ने उनके घोटालों की पूरी घोटाला शीट जनता के सामने पेश की. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जिस रफ्तार से घोटाले कर रहे हैं, वैसे में वह दिन दूर नहीं जब गूगल पर घोटाला शब्द टाइप किया जाएगा और शिवराज जी की तस्वीर सामने आ जाएगी. अगर शिवराज सरकार ने इतने घोटाले नहीं किये होते तो आज मध्यप्रदेश का नागरिक देश का सबसे समृद्ध और संपन्न नागरिक होता है.

कांग्रेस के हमले के बाद बीजेपी ने पलटवार किया है. बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार या प्रधानमंत्री मोदी सरकार को कमल नाथ से सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है…अगर वह (कमलनाथ) भ्रष्टाचार के चश्मे से देखेंगे तो उन्हें भ्रष्टाचार ही दिखेगा. अगर वह विकास और गरीब कल्याण के चश्मे से देखेंगे तो उन्हें विकास दिखेगा. मुझे यह कहते हुए गर्व है कि शिवराज सिंह चौहान के मुख्यमंत्री बनने के बाद मध्य प्रदेश की प्रति व्यक्ति आय बढ़ी है.

शुक्रवार को मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता कमल नाथ और पार्टी कार्यकर्ताओं ने मध्य प्रदेश सरकार के खिलाफ 50% कमीशन भ्रष्टाचार के आरोप वाले पोस्टर दिखाए. कमलनाथ ने कहा कि हम न्याय के लिए सब कुछ करेंगे.

गूगल पर ‘घोटाला’ खोजेंगे और शिवराज सिंह चौहान की तस्वीर नजर आएगी

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने शुक्रवार को एक ‘‘घोटाला शीट’’ जारी की जिसमें पिछले 18 वर्षों में प्रदेश में बीजेपी सरकार के तहत कथित तौर पर हुए घोटालों की सूची दी गयी है. प्रदेश कांग्रेस प्रमुख कमलनाथ ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जल्द ही ‘घोटाले’ के लिए गूगल पर खोजने से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की छवि सामने आएगी. उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार ने अपने 18 साल के शासनकाल में घोटालों का विश्व रिकॉर्ड बनाया है. सूची बहुत लंबी है और कांग्रेस ने घोटाला सूची में कुछ बड़े घोटालों को शामिल किया है. 50 प्रतिशत कमीशन राज’ ने राज्य को ‘घोटाला राज्य’ में बदल दिया है. उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि वह दिन दूर नहीं जब लोग गूगल पर ‘घोटाला’ खोजेंगे और शिवराज सिंह चौहान की तस्वीर दिखाई देगी.

जब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ से सवाल किया गया कि उनकी सरकार ने 2018 और 2020 के बीच सत्ता में रहते हुए इनमें से किसी भी घोटाले की जांच क्यों नहीं की कमलनाथ ने कहा कि मैं 2018 मॉडल नहीं हूं…अब मैं 2023 मॉडल हूं…उन्होंने कहा कि उन्हें सत्ता में केवल 15 महीने मिले और इसमें भी 2019 के लोकसभा चुनाव की आदर्श आचार संहिता के कारण ढाई महीने निकल गये. प्रदेश कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि उस वक्त उनका ध्यान भ्रष्टाचार घोटालों की जांच की तुलना में मध्यप्रदेश को निवेश के स्थान के रूप में स्थापित करने पर अधिक था.

‘घोटाला शीट’ की खास बात

कांग्रेस द्वारा प्रकाशित ‘घोटाला शीट’ में कुख्यात व्यापमं घोटाला (2,000 करोड़ रुपये), अवैध खनन (50,000 करोड़ रुपये), ई-टेंडर घोटाला (3,000 करोड़ रुपये), आरटीओ घोटाला (25,000 करोड़ रुपये), शराब घोटाला (86,000 करोड़ रुपये), महाकाल लोक (100 करोड़ रुपये) और बिजली घोटाला (94,000 करोड़ रुपये) सहित 254 घोटालों को सूचीबद्ध किया गया है. इस घोटाला शीट की टैगलाइन है ‘‘ घोटाला ही घोटाला, घोटाला सेठ-50 प्रतिशत कमीशन रेट… विपक्षी दल ने एक फोन नंबर की भी जारी किया जिस पर लोग मिस्ड कॉल दे सकते हैं जो लोग खुद को बीजेपी सरकार के ‘भ्रष्टाचार’ के खिलाफ अभियान से जुड़ना चाहते हैं.

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने कांग्रेस नेता को ‘भ्रष्टाचार नाथ’ करार दिया और कहा कि वह 1984 के सिख विरोधी दंगों एवं कई अन्य मुद्दों का मॉडल हैं, न कि 2023 मॉडल जैसा वह दावा कर रहे हैं. शर्मा ने कहा कि पत्रकार वार्ता में कांग्रेस द्वारा बांटे गए पर्चे में कोई क्रेडिट लाइन नहीं है. उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश में साल के अंत तक विधानसभा चुनाव होने हैं. भाजपा ने गुरुवार को अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है. हालांकि चुनाव कार्यक्रम की घोषणा अभी नहीं की गयी है.

भाषा इनपुट के साथ

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.