Cyclone Mocha: 10 मई को चक्रवाती तूफान में बदल सकता है मोचा, IMD अलर्ट, इन इलाकों में हो सकती है भारी बारिश

97

Cyclone Mocha: दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी और उसके नजदीक दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर सोमवार को कम दबाव का क्षेत्र बना. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी. आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने इसकी पुष्टि की. उन्होंने एक बयान में कहा, कम दबाव का यह क्षेत्र यहां पर ही नौ मई को चक्रवात में बदल सकता है और बाद में दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी और उससे लगे बंगाल तथा अंडमान सागर के पूर्वी मध्य खाड़ी के इलाकों में 10 मई को चक्रवाती तूफान का रूप ले सकता है.

इन इलाकों में हो सकती है भारी बारिश: चक्रवाती तूफान मोचा शुरू में 11 मई तक उत्तर-उत्तर पश्चिम से पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी की ओर तथा उसके बाद फिर उत्तर-उत्तर पूर्व दिशा में बांग्लादेश-म्यांमा तटों की ओर बढ़ सकता है. मौसम विभाग ने कहा, दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी और उससे सटे दक्षिण अंडमान सागर में जो लोग हैं उन्हें सुरक्षित स्थानों पर लौटने की सलाह दी जाती है, वहीं मध्य बंगाल की खाड़ी और उत्तर अंडमान सागर के लोगों को नौ मई से पहले लौटने की सलाह दी जाती है. उसने 8 मई से 12 मई तक अंडमान निकोबार द्वीपसमूह के पास पर्यटन, तटीय गतिविधियों पर नजर रखने का सुझाव दिया है.

वहीं, कोलकाता में मौसम विज्ञानी ने कहा कि अगले 24 घंटे में चक्रवात मोचा के आगे बढ़ने का मार्ग स्पष्ट हो जाएगा. मौसम विभाग से जुड़े अधिकारी ने कहा कि चक्रवातीय परिस्थितियों के प्रभाव के कारण सोमवार को कोलकाता में मौसम गर्म और परेशान करने वाला रहा. इसी प्रकार के मौसम जारी रहने और अधिकतम तथा न्यूनतम तापमान के क्रमश: 39 तथा 29 डिग्री सेल्सियस के करीब रहने का अनुमान है.

मछुआरों के लिए एडवाइजरी जारी: चक्रवाती तूफान मोचा को लेकर ओडिशा में अलर्ट है. ओडिशा के साथ ही पश्चिम बंगाल के सभी जिलों को भी अलर्ट पर रखा गया है. वहीं, एसडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम को भी आपात स्थितियों के लिए तैयार रहने को कहा गया है. मौसम विभाग की ओर से मछुआरों के लिए भी एडवाइजरी जारी की गई है. मछुआरों से कहा गया है कि वो 8 मई से 11 मई के बीच समुद्र के अंदर न जाएं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.