दिल्ली में बदमाशों ने जिम संचालक को मारी गोली

कार्यालय में घुसकर वारदात को दिया अंजाम

43

प्रीत विहार इलाके शुक्रवार रात बाइक सवार नकाबपोश बदमाशों ने एनर्जी जिम मालिक की गोली मारकर हत्या कर दी। दो बदमाशों ने कार्यालय में घुसकर कारोबारी को चार गोली मारी। वारदात को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गए। कारोबारी को पास के अस्पताल में ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। शुरुआती जांच में आपसी रंजिश और उगाही को लेकर हत्या किए जाने की आशंका जताई जा रही है। बदमाश सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए हैं। पुलिस फुटेज के जरिए बदमाशों की पहचान करने में जुटी है।

वरिष्ठ संवाददाता/महेश ढौंढियाल 

नयी दिल्ली। मृत जिम मालिक की पहचान महेंद्र अग्रवाल(40) के रूप में हुई है। वह परिवार के साथ पटपड़गंज इलाके में रहते थे। परिवार में पत्नी, 18 साल की बेटी और 14 साल का बेटा है। इनका एनर्जी नाम से प्रीत विहार में जिम है। साथ ही जिम के मशीन बनाने का कारोबार भी है। इनका प्रीत विहार स्थित जिम के ऊपर की मंजिल पर कार्यालय है।

परिवार के सदस्य ने बताया कि रात करीब 8 बजे वह अपने कार्यालय में बैठे थे। इसी दौरान बाइक सवार तीन बदमाश वहां पहुंचे। दो नकाबपोश बदमाश उनके कार्यालय में चले गए और तीसरा बदमाश बाइक के पास अपने साथियों का इंतजार करने लगा। करीब दस मिनट तक कार्यालय में रूकने के बाद बदमाशों ने महेंद्र अग्रवाल को नजदीक से चार गोली मार दी। बदमाशों ने उनके सिर और शरीर के अन्य हिस्से में गोली मारी। वारदात को अंजाम देने के बाद सभी बदमाश वहां से फरार हो गए।

गोली की आवाज सुनकर जिम में अफरा-तफरी मच गई। लोग तुरंत भागकर उपर पहुंचे। जहां जिम मालिक खून से लथपथ पड़े थे। लोगों ने तुरंत उनके परिवार वालों और पुलिस को घटना की जानकारी दी। हालांकि गोली लगने से उनकी मौके पर मौत हो गई थी, लेकिन उन्हें तुरंत पास के अस्पताल में ले जाया गया। जहां डॉॅक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

घटना की जानकारी मिलने के बाद जिले के आला पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच कर छानबीन शुरू कर दी। परिवार वालों ने किसी पर कोई शक जाहिर नहीं किया है। हालांकि पुलिस के सूत्रों का कहना है कि आपसी रंजिश या फिर उगाही को लेकर उनकी हत्या किए जाने की आशंका है। मौके पर लगे सीसीटीवी कैमरे की पुलिस ने जांच की है। जिसमें बदमाश कैद हो गए हैं। प्रीत विहार थाना पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर फुटेज के जरिए बदमाशों की पहचान करने में जुटी है।