सरकार मणिपुर के विषय पर चर्चा के लिए तैयार, लोकसभा में बोले अमित शाह

7

गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में कहा कि सरकार मणिपुर के विषय पर चर्चा के लिए तैयार है. विपक्ष से आग्रह है कि वे चर्चा होने दें और सच्चाई सामने आने दें. उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता चल रहा है कि विपक्ष संसद में चर्चा क्यों नहीं होने दे रहा है. आपको बता दें कि मणिपुर के मुद्दे पर सोमवार को लोकसभा में विपक्षी दलों के सदस्यों के हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही तीन बार के स्थगन के बाद अपराह्न करीब दो बजकर 35 मिनट पर मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में कहा कि सरकार मणिपुर के विषय पर चर्चा के लिए तैयार है. विपक्ष से आग्रह है कि वे चर्चा होने दें और सच्चाई सामने आने दें. उन्होंने कहा कि मुझे नहीं मालूम कि विपक्ष संसद में चर्चा क्यों नहीं होने दे रहा है. आपको बता दें कि संसद का मानसून सत्र शुरू होने के बाद से ही विपक्ष दलों के सदस्य मणिपुर हिंसा के मुद्दे पर सदन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान और फिर चर्चा कराने की मांग करता नजर आ रहा है. इस वजह से संसद के दोनों सदनों में कामकाज आज भी बाधित रहा है.

सरकार मणिपुर के मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार

सोमवार को तीन बार के स्थगन के अपराह्न ढाई बजे कार्यवाही शुरू होने पर गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में कहा कि सरकार मणिपुर के मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार है. सदस्यों से आग्रह है कि बहुत संवेदनशील मुद्दे पर सत्ता पक्ष और विपक्ष…दोनों ओर के सदस्यों ने चर्चा की मांग की है. मैं सदन में चर्चा के लिए तैयार हूं.

हम मणिपुर पर बहस के लिए तैयार : सुशील कुमार मोदी

भाजपा सांसद सुशील कुमार मोदी ने कहा कि हम मणिपुर पर बहस के लिए तैयार हैं लेकिन इसके साथ बिहार में जो लाठीचार्ज हुआ, बंगाल में जो हिंसा हुई, उस पर भी बहस कराने के लिए मैंने नोटिस दिया था और स्पीकर ने उसको स्वीकार कर लिया. आज आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने जिस प्रकार हंगामा शुरू किया कि मजबूरन सदन को उनको निष्कासित करना पड़ा है. जब सरकार चर्चा के लिए तैयार है तो फिर विपक्ष सदन को क्यों नहीं चलने दे रहा है.

राज्यसभा सदस्य संजय सिंह निलंबित

इधर, आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह को सोमवार को राज्यसभा में हंगामा और आसन के निर्देशों का उल्लंघन करने के लिए वर्तमान मानसून सत्र की शेष अवधि तक के लिए निलंबित कर दिया गया. सभापति जगदीप धनखड़ ने प्रश्नकाल में सिंह को निलंबित करने की घोषणा की. इससे पहले आसन के समीप आए सिंह के नाम का सभापति ने उल्लेख किया. आसन द्वारा किसी सदस्य के नाम का उल्लेख किये जाने पर उस सदस्य को तत्काल सदन से बाहर जाना होता है और वह पूरे दिन सदन की कार्यवाही में भाग नहीं ले सकता. इसके बाद सदन के नेता पीयूष गोयल ने सिंह को मौजूदा सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित करने का प्रस्ताव करते हुए कहा कि आप सदस्य का आचरण सदन की गरिमा के अनुकूल नहीं है. हंगामे के बीच ही गोयल के प्रस्ताव को सदन ने ध्वनिमत से मंजूरी दे दी.

पीएम मोदी खत्म कर सकते हैं गतिरोध

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि मुझे लगता है कि इस मुद्दे (मणिपुर) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सदन में उपस्थित होने से आसानी से हल किया जा सकता है जिसके वे खुद भी सदस्य हैं और इसके प्रति वह जवाबदेह हैं. हम एक ऐसी स्थिति देख रहे हैं जो इतनी महत्वपूर्ण है कि सरकार के मुख्य कार्यकारी से कम कोई भी इस पर शुरुआत में नहीं बोल सकता है. गृह मंत्री और अन्य लोग अपनी भूमिका निभा सकते हैं, मुझे यकीन है…लेकिन प्रधानमंत्री ने संसद के बाहर मीडिया से बात करना उचित समझा, जब सत्र चल रहे हैं तब यह स्वीकार्य नहीं हो सकता है.

हंगामा करके कुछ नहीं होने वाला

लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा कि पहले आप(विपक्ष) चर्चा तो शुरू करें…जब तक चर्चा शुरू नहीं करेंगे तब तक जनता तक ये बात कैसे जाएगी कि विपक्ष क्या सोच रहा है या सत्ता पक्ष क्या सोच रहा है…सड़क पर उतरकर हंगामा करके कुछ नहीं होने वाला है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.