करगिल में लड़े थे मणिपुर में निर्वस्त्र कर घुमायी गयी महिला के पति, आरोपी के घर में लगायी गयी आग, देखें वीडियो

98

मणिपुर में दो महिलाओं को निर्वस्त्र कर उनकी परेड कराने का वीडियो वायरल होने के बाद पूरे देश में गुस्से का माहौल है. इस बीच एक और वीडियो सामने आया है जिसमें कुछ महिलाएं हाथों में डंडा लिये नजर आ रहीं हैं. आइए आपको इस वीडियो के बारे में बताते हैं. दरअसल यह वीडियो गुरुवार का है जिसे न्यूज एजेंसी एएनआई ने अपने ट्विटर वॉल पर शेयर किया है. इस वीडियो में नजर आ रहा है कि कुछ महिलाएं आरोपी के घर को गिरा रहीं हैं. 20 जुलाई को इंफाल में महिलाओं ने मणिपुर वायरल वीडियो मामले के एक आरोपी का घर जला दिया. आपको बता दें कि मामले में अब तक चार गिरफ्तारियां हो चुकी हैं.

इधर जो खबर आ रही है वो चौंकाने वाली है. बताया जा रहा है कि पीड़ित महिला के पति कारगिल युद्ध में लड़ चुका है. पीड़ित महिला के पति ने एक स्थानीय समाचार चैनल से बातचीत की. बातचीत के क्रम में उन्होंने कहा कि मैं करगिल युद्ध में देश के लिए लड़ा और भारतीय शांति रक्षक बल के रूप में श्रीलंका में भी सेवा दी. इसके बाद भी मेरे परिवार के साथ ऐसा किया गया जिसका मुझे दुख है.

इस बीच मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने कहा कि वायरल वीडियो देखकर लोग निराश है इसलिए सब लोग इसका विरोध कर रहे हैं. हमने पुलिस की तरफ से 4 आरोपियों को पकड़ लिया है और जो भी घटना में शामिल है उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा. मेरा काम है मणिपुर में शांति बनाए रखना. इस बीच मामले में दर्ज प्राथमिकी में आरोप लगाया गया है कि महिलाओं का अपहरण करने से पहले हथियारबंद पुरुषों का एक समूह कांगपोकपी जिले के गांव में घुसा और उसने घरों को लूटा तथा आगजनी की, लोगों की हत्या की तथा महिलाओं का यौन शोषण किया. प्राथमिकी की खबर न्यूज एजेंसी पीटाीआई ने दी है.

महिलाओं को निर्वस्त्र कर घुमाया गया

प्राथमिकी में दावा किया गया है कि भीड़ ने एक व्यक्ति की हत्या कर दी थी जिसने चार मई को कुछ लोगों को अपनी बहन से दुष्कर्म करने से रोकने का प्रयास किया था. इसके बाद दोनों महिलाओं को निर्वस्त्र कर घुमाया गया और दूसरे लोगों के सामने ही उनका यौन उत्पीड़न करने का काम किया गया. सैकुल थाने में प्राथमिकी दर्ज की है जिसमें दावा किया गया है कि एके राइफल्स, एसएलआर, इनसास और .303 राइफल्स जैसे आधुनिक हथियार लेकर करीब 900-1000 लोग सैकुल थाने से करीब 68 किलोमीटर दक्षिण में कांगपोकपी जिले में गांव में जबरन घुस आये. हिंसक भीड़ ने घरों में तोड़फोड़ की और चल संपत्तियां लूटने के बाद उन्हें आग के हवाले कर दिया.

करगिल में लड़े थे निर्वस्त्र कर घुमायी गयी महिला के पति

आपको बता दें कि पुलिस ने महिलाओं को निर्वस्त्र करके उन्हें घुमाने के मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी से एक दिन पहले 19 जुलाई को इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ जिसकी गूंज संसद में भी सुनाई दी. इस घटना के संबंध में एक महीने पहले 21 जून को सैकुल थाने में शिकायत दर्ज की गयी थी. बताया जा रहा है कि जिन दो महिलाओं को निर्वस्त्र कर उनकी परेड करायी गयी, उनमें से एक का पति करगिल युद्ध में भाग ले चुका पूर्व सैनिक है. महिला के पति ने इस पर खेद जताया कि उन्होंने देश की रक्षा की लेकिन अपनी पत्नी को अपमानित होने से नहीं बचा पाए. वह असम रेजीमेंट में सूबेदार के रूप में भारतीय सेना में सेवा दे चुके हैं.

पुलिस मौजूद थी लेकिन उसने कोई कार्रवाई नहीं की

पीड़ित महिला के पति ने एक स्थानीय समाचार चैनल से बातचीत की और कहा कि मैं करगिल युद्ध में देश के लिए लड़ा और भारतीय शांति रक्षक बल के रूप में श्रीलंका में भी सेवा दी. मैंने देश की रक्षा की लेकिन मैं निराश हूं कि मैं अपनी पत्नी तथा बाकी ग्रामीणों की रक्षा नहीं कर सका. उन्होंने बताया कि चार मई की सुबह भीड़ ने इलाके में कई मकानों को फूंक दिया, दोनों महिलाओं को निर्वस्त्र किया तथा उन्हें लोगों के सामने गांव की सड़कों पर घुमाया. पुलिस मौजूद थी लेकिन उसने कोई कार्रवाई नहीं की. मैं चाहता हूं कि जिन लोगों ने मकानों को जलाया और महिलाओं का अपमान किया, उन्हें कठोर सजा मिले.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.