Manipur Violence: किसने की छात्र-छात्रा की हत्या? अबतक चार गिरफ्तार, मणिपुर से बाहर ले गई सरकार

8

Manipur Violence : मणिपुर में जारी हिंसा के बीच छात्र-छात्रा की हत्या के मामले में को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है. मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने बताया कि मणिपुर के एक किशोर छात्र और एक छात्रा के अपहरण और हत्या के सिलसिले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. इस घटना के कारण पिछले सप्ताह मणिपुर में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुआ था. उन्होंने कहा कि सरकार मामले में दोषियों के लिए मौत की सजा समेत अधिकतम सजा सुनिश्चित करेगी. मुख्य आरोपी की पत्नी सहित चारों को एक विशेष उड़ान से राज्य के बाहर ले जाया गया है. मुख्यमंत्री सचिवालय के अधिकारियों ने कहा कि मामले के सिलसिले में 11 और नौ साल की दो लड़कियों को हिरासत में लिया गया था, लेकिन बाद में उन्हें छोड़ दिया गया. दोनों मुख्य आरोपी की बेटियां हैं.

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि दो युवकों की हत्या के आरोप में सीबीआई ने चूराचांदपुर जिले के हेंगलेप इलाके से चार लोगों को गिरफ्तार किया है. उन्हें विशेष विमान के जरिये राज्य से बाहर ले जाया गया है. हालांकि, उन्होंने उस स्थान के बारे में जानकारी साझा नहीं की, जहां आरोपियों को ले जाया गया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए चलाए गए अभियान के दौरान सेना, बीएसएफ, सीआरपीएफ जैसे अर्धसैनिक बलों और राज्य पुलिस के जवानों ने प्रमुख भूमिका निभाई.

23091 pti09 23 2023 000297a
Manipur Violence news today

सीबीआई ने मामले की जांच शुरू की थी

सीबीआई के विशेष निदेशक अजय भटनागर के नेतृत्व में सीबीआई अधिकारियों की एक टीम ने 27 सितंबर को मणिपुर पहुंचकर मामले की जांच शुरू की थी. इससे पहले, मुख्यमंत्री ने ‘एक्स’ पर कहा, जैसा कि कहा जाता है, कोई अपराध करने के बाद भाग सकता है, लेकिन कानून के लंबे हाथों से नहीं बच सकता. हम उनके द्वारा किए गए जघन्य अपराध के लिए मृत्युदंड सहित अधिकतम सजा सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. उन्होंने कहा कि सरकार जांच में सीबीआई की मदद करेगी और दोनों युवाओं की हत्या में शामिल सभी लोगों को गिरफ्तार किया जाएगा.

एक युवक और एक युवती छह जुलाई को हो गए थे लापता

आपको बता दें कि एक युवक और एक युवती छह जुलाई को लापता हो गए थे. उनके शवों की तस्वीरें 25 सितंबर को सामने आईं. इसके बाद, 26 और 27 सितंबर को छात्रों के हिंसक विरोध प्रदर्शन ने राज्य की राजधानी को हिलाकर रख दिया. भीड़ ने 28 सितंबर की रात को मुख्यमंत्री के पैतृक घर पर हमला करने की कोशिश की थी, जिसे सुरक्षा बलों ने नाकाम कर दिया था.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.