’50 दिनों से जल रहा है मणिपुर, मगर प्रधानमंत्री मौन रहे’, सर्वदलीय बैठक से पहले पीएम मोदी पर राहुल का निशाना

9

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार को मणिपुर में जारी हिंसा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष किया और इस मुद्दे पर पीएम मोदी की “चुप्पी” पर सवाल उठाया है. उन्होंने कहा कि बैठक ऐसे समय बुलाई गई है जब प्रधानमंत्री “देश में नहीं हैं” क्योंकि यह उनके लिए “महत्वपूर्ण नहीं” है. पीएम मोदी 24 जून तक संयुक्त राज्य अमेरिका की आधिकारिक राजकीय यात्रा पर हैं.

अमित शाह ने 24 जून को बुलाई सर्वदलीय बैठक 

आपको बताएं मणिपुर में पिछले 2 महीनों जारी जातीय संघर्ष पर विराम लगाने के मद्देनजर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने 24 जून को सर्वदलीय बैठक का आह्वान किया है. इससे पूर्व कांग्रेस समेत 10 विपक्षी दलों ने पीएम को एक पत्र लिखा था जिसमें उनकी चुप्पी की आलोचना की गई थी साथ ही मणिपुर में हो रहे जातीय हिंसा पर रोकथाम के लिए कुछ सुझाव भी दिए गए थे.

कांग्रेस समेत 10 विपक्षी दलों ने पीएम को एक पत्र लिखा था

आपको बताएं कि, बुधवार को कांग्रेस समेत 10 विपक्षी दलों ने पीएम को एक पत्र लिखा था. पत्र में मणिपुर में हिंसा को रोकने में विफल रहने के लिए केंद्र और राज्य में भाजपा सरकार को जिम्मेदार ठहराया गया है. विपक्ष ने बीजेपी पर बांटो और राज करो की राजनीति करने का आरोप लगाया है. विपक्षी दलों ने मणिपुर के मुख्यमंत्री को वर्तमान जातीय हिंसा जिम्मेदार बताया है. साथ ही कहा कि अगर राज्य के मुख्यमंत्री ने सही वक्त पर उचित कदम उठाया होता और तत्काल कार्रवाई की होती तो इस हिंसा को टाला जा सकता.

मणिपुर में जारी हिंसा की वजह?

आपको बाताएं कि , प्रभावी और राजनीतिक रूप से मजबूत मेइती समुदाय को अनुसूचित जनजाति (एसटी) सूची में शामिल करने पर विचार करने के लिए उच्च न्यायालय के एक विवादास्पद आदेश के विरोध में एक आदिवासी कुकी समूह द्वारा एक रैली ने मई में दो समुदायों के बीच हिंसा की लहर छेड़ दी. लगातार दो महीने से जारी हिंसा में अबतक 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 40,000 विस्थापित बताए जा रहे हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.