मध्य प्रदेश में पटवारी भर्ती घोटाला ? कांग्रेस ने शिवराज सरकार पर लगाये गंभीर आरोप तो आया ये जवाब

4

मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले शिवराज सरकार पर अब कांग्रेस पटवारी भर्ती घोटाले का आरोप लगा रही है. इसको लेकर कांग्रेस नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट किया है. उन्होंने अपने ट्विटर वॉल पर लिख कि प्रदेश में पटवारी भर्ती परीक्षा में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी के समाचार सामने आ रहे हैं. कई टॉपर एक ही सेंटर पर परीक्षा देकर सफल हुए बताए जा रहे हैं. एक बार फिर फ़र्ज़ीवाडे के तार बीजेपी से जुड़े दिख रहे हैं.

कांग्रेस नेता कमलनाथ ने लिखा कि व्यापाम, नर्सिंग, आरक्षक भर्ती, कृषि विस्तार अधिकारी और ऐसी ही कितनी ही भर्ती परीक्षाओं ने अंत में घोटाले का रूप लिया है. नौकरी देने के नाम पर भर्ती घोटाला करना शिवराज जी की सरकार का चरित्र बन गया है. इनसे तो जांच की मांग करना भी बेकार है क्योंकि हमेशा बड़ी मछलियों को बचा लिया जाता है. मेरी मांग है कि कोई स्वतंत्र एजेंसी मामले की जांच करे और उन लाखों बेरोज़गारों के साथ न्याय करे जो इन प्रतियोगी और भर्ती परीक्षाओं में शामिल होते हैं. मध्य प्रदेश अब भ्रष्टराज से मुक्ति चाहता है.

तार भाजपा विधायक संजीव कुमार कुशवाह से जुड़ा

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार विपक्ष इस भर्ती घोटाले के तार भाजपा विधायक संजीव कुमार कुशवाह से जोड़ रहा है. खबरों की मानें तो, पटवारी भर्ती परीक्षा में टॉप करने वाले 10 छात्रों में से 7 ग्वालियर के एनआरआई कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से हैं. इसके मालिक भिंड के विधायक संजीव कुशवाह हैं. मामले पर मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान सामने आया है. उन्होंने कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि चुनाव नजदीक आते ही कांग्रेस ने परीक्षा में गड़बड़ी का मामला उठाना शुरू कर दिया. यह पूरी तरीके से कांग्रेस की साजिश का हिस्सा है.

8000 से अधिक पटवारी परीक्षा में चयनित हुए

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आगे कहा कि प्रदेश में 8000 से अधिक पटवारी परीक्षा में चयनित हुए हैं. 13 जिलों में सेंटर बनाने का काम किया गया था और 35 दिन परीक्षाएं ली गयी थी. 70 से अधिक प्रश्न पत्र आये. कांग्रेस की ओर से लगाये गये गड़बड़ी के सभी आरोप झूठे हैं, जिस सेंटर पर आरोप लगा रहे हैं वहां से 114 लोग कुल चुने गये हैं.

मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव

यहां चर्चा कर दें कि इस साल के अंत तक मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. इससे पहले भाजपा और कांग्रेस एक दूसरे को घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं. कांग्रेस पटवारी भर्ती घोटाले का आरोप शिवराज सरकार पर लगा रही है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.