मध्य प्रदेश : युवक की मौत पर अस्पताल में परिजनों का हंगामा, डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप

0 107

 मध्य प्रदेश के जबलपुर में शनिवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज में एक युवक की मौत के बाद उसके परिजनों ने हंगामा कर दिया है। बताया जा रहा है कि कथित रूप से उनके द्वारा डॉक्टरों पर हमला भी किया गया है। दरअसल यहां इलाज करवा रहे एक युवक को उसकी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद दूसरे वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया था जिसके बाद उसकी मौत हो गई। इससे उसके परिजन गुस्से में आ गए और उन्होंने अस्पताल में हंगामा कर दिया।

 

एएसपी संजीव उकेई ने कहा, “जबलपुर के नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज में शनिवार को एक युवक की मौत के बाद उसके परिजनों ने डॉक्टरों पर कथित रूप से हमला कर दिया। वह व्यक्ति संभवत: कोरोना पॉजिटिव था और उसे उसकी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद दूसरे वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया था।”

 

उन्होंने बताया कि परिवार वालों का आरोप है कि युवक का ठीक तरह से इलाज नहीं किया गया जिस कारण उसकी मृत्यु हो गई। पुलिस ने इस बारे में एक एफआइआर दर्ज कर ली है। एएसपी ने बताया कि हम मामले की जांच कर रहे हैं और इस बारे में जल्द ही एक्शन लिया जाएगा।

 

 

सुबह नेगेटिव और शाम को कोरोना के संक्रमण की पुष्टि

 

बता दें कि COVID-19 टेस्टिंग को लेकर कई बार स्वास्थ्य विभाग की कार्यप्रणाली को लेकर सवाल खड़े होते रहे हैं। पिछले महीने जम्मू कश्मीर में एक अजीब मामला देखने को मिला था जब एक शख्स की कोरोना रिपोर्ट सुबह नेगेटिव आई और शाम को पॉजीटिव पाई गई। यह मामला सीमांत क्षेत्र अखनूर के गडखाल का था। यहां रहने वाले एक श्रमिक की कोरोना रिपोर्ट की जांच सुबह नेगेटिव आई और शाम को फोन करके उसे बताया गया कि वो कोरोना पॉजिटिव है। अचानक से कोरोना संक्रमित होने की सूचना मिलते ही वह आपा खो बैठा और गुस्से में अपना मोबाइल फोन पटक दिया और घर के सामान तोड़ने लगा। स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना अखनूर पुलिस को दी, जिन्होंने काफी मशक्कत के बाद व्यक्ति को काबू कर जम्मू के कोविड-19 अस्पताल में दाखिल करवाया।