Lok Sabha Election: बीजेपी क्या 2019 जैसा करिश्मा कर पाएगी

5

election 6633 2

Lok Sabha Election: लोकसभा चुनाव 2024 की तारीखों का ऐलान 16 मार्च को होगा. चुनाव आयोग लोकसभा इलेक्शन के साथ जम्मू-कश्मीर में असेंबली पोल करा सकता है. बता दें कि 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में तारीखों का ऐलान 10 मार्च को हो गया था. मतगणना 11 अप्रैल से 19 मई के बीच चली थी. इसके कुछ दिन बाद नतीजों की घोषणा हो गई थी, जिसमें बीजेपी ने अकेले 303 सीटें हासिल की थीं और केंद्र में सरकार बनाई थी. 17वीं लोकसभा चुनाव का कार्यकाल 16 जून 2024 तक है. आइए जानते है कि 2014 और 2019 के चुनाव में किस पार्टी की कैसी स्थिति थी.

Lok Sabha Election: 2019 के लोकसभा चुनाव का हाल

PRS India की रिपोर्ट के मुताबिक, 2019 के लोकसभा चुनाव में 91.2 करोड़ वोटर थे. उस चुनाव में वोट प्रतिशत 67.1 था, जो अब तक सर्वाधिक है. बीजेपी नीत गठबंधन की बात करें तो उसे 353 सीटें मिली थीं. कांग्रेस के खाते में सिर्फ 52 सीटें आई थीं. पार्टी विपक्ष का नेता बनने से 10% सीट दूर रह गई थी. कांग्रेस नीत गठबंधन को कुल मिलाकर 91 सीटें मिली थीं. बाकी अन्य पार्टियों को 98 सीटें मिली थीं. इस चुनाव में बीजेपी का कुल वोट शेयर 2014 की तुलना में 6.5 फीसद बढ़ा था. 60.37 करोड़ वोट में 22.6 करोड़ से ज्यादा बीजेपी के खाते में गए थे. कांग्रेस की बात करें तो उसका वोट शेयर 19.3 फीसद से बढ़कर 19.6 फीसद हो गया था.

Lok Sabha Election: 2014 के चुनाव का हाल

2014 के आम चुनाव 9 चरणों में हुए थे. मतदान 7 अप्रैल से 12 मई तक चला था. उस दौरान भी बीजेपी सबसे बड़े दल के रूप में उभरी थी. उसे 282 सीट मिली थीं जबकि एनडीए को 336 सीट मिली थीं. इस चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन सबसे खराब रहा था. उसे सिर्फ 44 सीट मिली थीं. जबकि यूपीए गठबंधन को 59 सीट मिली थीं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.