Lok Sabha Election 2024: भाकपा ने लोकसभा चुनावों के लिए चार महत्वपूर्ण सीट पर अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की है.

6

20021 pti02 20 2024 000029a

Lok Sabha Election 2024: केरल में सत्तारूढ़ वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) में शामिल भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) ने आगामी लोकसभा चुनावों के लिए चार महत्वपूर्ण सीट पर अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की है. भाकपा, एलडीएफ का दूसरा सबसे बड़ा घटक दल है. पार्टी की वरिष्ठ नेता एनी राजा को वायनाड सीट से उम्मीदवार बनाया गया है. इस निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व अभी कांग्रेस नेता राहुल गांधी कर रहे हैं. भाकपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद पन्नियन रवींद्रन को तिरुवनंतपुरम से टिकट दिया गया है. इस सीट का प्रतिनिधित्व अभी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर कर रहे हैं. पार्टी के प्रदेश सचिव विनय विश्वम ने संवाददाता सम्मेलन में यह घोषणा की.

Lok Sabha Election 2024: ‘इंडिया’ गठबंधन में ‘खेला’

भाकपा ने पूर्व कृषि मंत्री वी एस सुनील कुमार और पार्टी की युवा इकाई ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन के नेता सीए अरुण कुमार को त्रिशूर और मवेलीक्कारा से उम्मीदवार बनाया है. विश्वम ने कहा कि पार्टी की राज्य परिषद और प्रदेश कार्यकारिणी ने संबद्ध जिलों की परिषदों द्वारा सिफारिश किये गये उम्मीदवारों के नाम को आम सहमति से स्वीकार कर लिया. आगामी आम चुनावों में एलडीएफ उम्मीदवारों के जीतने का विश्वास जताते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में वर्तमान राजनीतिक रुझान वाम मोर्चे के अनुकूल है.

Lok Sabha Election 2024: एलडीएफ के पक्ष में जनता- भाकपा

भाकपा के प्रदेश सचिव ने कहा, ‘‘केरल में एलडीएफ विरोधी कोई लहर नहीं है जैसा कि मीडिया द्वारा प्रचारित किया गया है. राज्य की जनता एलडीएफ के पक्ष में सोच रही है. हाल के स्थानीय निकाय चुनावों के नतीजे इसका स्पष्ट संकेत है.इस बीच, नई दिल्ली में एनी राजा ने संवाददाताओं से कहा कि भाकपा अपने हालिया अधिवेशन में लिए गए निर्णय के अनुरूप आगे बढ़ रही है, जिसमें देश को बचाने के लिए वामपंथी, धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक ताकतों से एकजुट होने का आह्वान किया गया था.उन्होंने कहा कि पार्टी को उम्मीद है कि समान विचारधारा वाली अन्य पार्टियां भी इसी तर्ज पर सोचेंगी और कार्य करेंगी.

Lok Sabha Election 2024: वायनाड से सांसद है राहुल गांधी

यह पूछे जाने पर कि क्या राहुल गांधी अपनी मौजूदा सीट वायनाड पर उनके खिलाफ चुनाव लड़ेंगे, राजा ने कहा कि प्रत्येक पार्टी का निर्णय उसका विशेषाधिकार है और वह अटकलों के आधार पर कुछ भी टिप्पणी नहीं कर सकतीं. कांग्रेस ने अभी तक इस सीट पर अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है. राजा ने कहा, ‘‘मैं केवल अपनी पार्टी से संबंधित मामलों पर टिप्पणी कर सकती हूं. फासीवाद से लड़ने के लिए किस निर्वाचन क्षेत्र में किस नेता को चुनाव मैदान में उतारना है, इस बारे में कांग्रेस पार्टी को निर्णय लेना है. वायनाड के अलावा, त्रिशूर और तिरुवनंतपुरम सीट पर भी प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवारों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिल सकती है.

Also Read: Agnipath Scheme: ‘अग्निपथ योजना को खरगे ने बताया युवाओं से अन्याय, कहा- सत्ता में आए तो बहाल करेंगे पुरानी भर्ती प्रक्रिया

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.