Lok Sabha Election 2024 क्या आप और कांग्रेस मिलकर बीजेपी को हरा पाएंगे

6

25021 pti02 24 2024 000063a

Lok Sabha Election 2024: कांग्रेस व आम आदमी पार्टी (आप) ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए दिल्ली, गुजरात, गोवा व हरियाणा में सीट बंटवारे का ऐलान किया है. दोनों पार्टियों ने आपसी सहमति से दिल्ली की सीटें बांटी जिसके तहत ‘आप’ चार व कांग्रेस तीन सीट पर चुनाव लड़ेगी. इस बंटवारे के बाद सभी के मन में सवाल आ रहा है कि क्या दोनों पार्टियां मिलकर बीजेपी को टक्कर दे सकेंगी ? ऐसा इसलिए क्योंकि 2014 के बाद से इन सभी सीटों पर बीजेपी का कब्जा है. जानें पिछले दो चुनाव के आंकड़े यहां…

Lok Sabha Election 2024: 2019 के लोकसभा चुनाव पर एक नजर

दिल्ली के साल 2019 में हुए लोकसभा चुनाव के परिणाम पर नजर डालें तो बीजेपी ने इस चुनाव में 56.9 फीसदी वोट शेयर हासिल किया था और दिल्ली की सभी सातों सीट को अपने पाले में ले लाया था. 2019 के लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सभी सात सीटों पर कुल एक करोड़ 27 लाख 11 हजार 236 वोटर थे जिनमें से 86 लाख 79 हजार 12 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था. बीजेपी पर 49 लाख 8 हजार 541 वोटरों ने भरोसा किया था और अपना मत दिया था. वहीं 22.6 फीसदी वोट शेयर के साथ दूसरे स्थान पर कांग्रेस रही थी जिसे कुल मिलाकर 19 लाख 53 हजार 900 वोट मिले थे. बात करें आम आदमी पार्टी की तो उसे 15 लाख 71 हजार 687 वोट मिले मिले थे और पार्टी का वोट शेयर 18.2 फीसदी रहा था. यदि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के वोट शेयर जोड़ लें तो भी यह 40.8 फीसदी ही होता है. यानी ये जोड़ 35 लाख 25 हजार 587 वोट तक ही पहुंचता है जो बीजेपी के वोट और वोट शेयर के मुकाबले कहीं नहीं टिकता है.

Lok Sabha Election 2024: पश्चिम बंगाल में गठबंधन के लिए टीएमसी के साथ कांग्रेस की चर्चा जारी है. जानें दिल्ली में आप से गठबंधन करने के बाद क्या बोली कांग्रेस

2014 के चुनाव पर एक नजर

यदि बात 2014 के लोकसभा चुनाव की करें तो बीजेपी को कुछ टक्कर इस चुनाव में मिली थी हालांकि वह सातों सीटों पर कब्जा करने में कामयाब रही थी. इस चुनाव में बीजेपी का वोट शेयर 46.6 फीसदी रहा था. 2014 में सातों लोकसभा सीटों पर बीजेपी को कुल मिलाकर 38 लाख 38 हजार 850 वोट प्राप्त हुए थे. आम आदमी पार्टी को 27 लाख 22 हजार 887 वोट मिले थे जबकि पार्टी 33.1 फीसदी वोट शेयर के साथ दूसरे नंबर पर नजर आ रही थी. कांग्रेस की बात करें तो उसके उम्मीदवार सभी सात सीटों पर तीसरे स्थान पर रहे थे. कांग्रेस को दिल्ली में कुल मिलाकर 12 लाख 53 हजार 78 वोट मिले थे जबकि उसका वोट शेयर 15.2 फीसदी रहा था. 2014 के लोकसभा चुनाव में दोनों दलों को मिले वोट और वोट शेयर मिलाकर देखें तो वोटों का आंकड़ा 39 लाख 75 हजार 965 है वहीं वोट शेयर 48.3 फीसदी पहुंच जाता है. यह बीजेपी के मुकाबले कहीं अधिक है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.