आर्ट ऑफ लिविंग की और से 21 सितंबर तक लाइव ध्यान शिविर विश्वशांति दूत श्री श्री रवि शंकर करवाते है लाइव ध्यान

0 109

(सोनू बठिंडा)  कोरोना संक्रमण के चलते जहां लोग डर के कारण तनावग्रस्त हो रहे हैं व हीन भावनाओं से ग्रसित हो रहे हैं, वहीं लोगों को भय से मुक्त करने के लिए पदम विभूषित विश्व शांति दूत आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रवि शंकर लोगों को ध्यान से जोड़ कर मानसिक शांति के लिए प्रेरित कर रहे है जिसके तहत आर्ट ऑफ लिविंग की और से 1 सितंबर से लेकर 21 सितंबर तक यू ट्यूब के माध्यम से रोजाना शाम साढ़े 7 से 8 बजे तक स्वयं श्री श्री रवि शंकर जी ध्यान करवाते है,जिसके जरिये लोग मानसिक तंदरुस्ती,शांति व स्थिरता का अनुभव करते है |

आर्ट ऑफ लिविंग के मीडिया कॉर्डिनेटर सन्दीप अग्रवाल ने बताया कि एक सर्वेक्षण के अनुसार 65 प्रतिशत लोग लॉकडाउन के बाद तनाव का शिकार हुए है,जिनमे चिंता,क्रोध,हताशा व चिड़चिड़ापन, अकेलापन बढ़ा है,जिससे लोगो को बचाने के लिए परम् पूज्य श्री श्री रवि शंकर द्वारा 21 दिन के ध्यान का चैलेंज शुरू किया गया है जिससे लोग विश्राम,हल्कापन,सहजता का अनुभव कर सकते है,कई हजार वैज्ञानिक संसोधनों में पाया गया है की नियमित ध्यान के अभ्यास से बेहतर शारीरिक स्वास्थ्य, ऊर्जावृद्धि, तनाव से राहत ,रिश्तों में सुधार, व प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है,अग्रवाल ने बताया कि पिछले समय मे लॉकडाउन के दौरान 22 मार्च से श्री श्री रवि शंकर जी द्वारा पूरे लॉकडाउन में लाइव ध्यान लगातार करवाया गया जिसके विश्व भर से 100 मिलियन से अधिक लोगों ने देखा,

आर्ट ऑफ लिविंग की मीडिया टीम ने बताया की कोई भी जन शाम साढ़े 7 बजे से यूट्यूब के जरिये श्री श्री रवि शंकर जी के चैनल पर लाइव ध्यान से जुड़ सकता है