जानें, ऋषि कपूर ने 3 साल पहले क्यों कहा था- ‘जब मैं मर जाऊंगा… कोई मुझे कंधा देने नहीं आएगा.

0 192

नई दिल्ली,हिंदी सिनेमा के वेटरन एक्टर ऋषि कपूर का 30 अप्रैल को निधन हो गया था। उन्हें गुज़रे हुए एक हफ़्ता हो चुका है, मगर उन्हें याद करने का सिलसिला जारी है। ऋषि की कई ऐसी पुरानी बातें अब लोगों के ज़हन में आ रही हैं, जो उन्होंने सोशल मीडिया के ज़रिए कही थीं। तीन साल पहले जब दिग्गज कलाकार विनोद खन्ना का निधन हुआ था तो ऋषि कपूर इस बात पर बहुत भड़के थे कि विनोद खन्ना के अंतिम संस्कार में नई पीढ़ी के कलाकार शामिल नहीं हुए थे। उस वक़्त ट्विटर पर ऋषि कपूर ने ऐसे कलाकारों की जमकर लताड़ लगायी थी।

ऋषि ने एक के बाद एक ट्वीट करके लिखा था- शर्मनाक। इस पीढ़ी का एक भी कलाकार विनोद खन्ना की अंतिम यात्रा में शामिल नहीं हुआ। वो भी तब, जबकि उन्होने साथ काम किया है। इज़्ज़त करना सीखना चाहिए। अगले ट्वीट में ऋषि ने लिखा था- ऐसा क्यों? मेरे बाद भी… जब मैं मरूंगा, मुझे इस बात के लिए तैयार रहना चाहिए। कोई मुझे कंधा देने नहीं आएगा। आज के कथित सितारों से बेहद नाराज़ हूं।


ऋषि की नाराज़गी इस बात से ही समझी जा सकती है कि पहला ट्वीट उन्होंने रात 11.53 बजे किया था और आख़िरी रात एक बजे। ऋषि ने अगले दो ट्वीट्स में यह भी साफ़ किया कि उनके बेटे रणबीर फ्यूनरल से नदारद क्यों थे- जी हां, यह सोशल मीडिया में पहले ही बताया जा चुका है कि मेरी पत्नी और रणबीर देश से बाहर हैं। इसके अलावा वहां ना होने का कोई और कारण हो ही नहीं सकता।

ऋषि ने आगे लिखा था- गुस्सा हूं। प्रियंका चोपड़ा की पार्टी में पिछली रात इतने चमचा लोगों से मिला था। विनोद के यहां कुछ ही। कितना ज़ाहिर है सब। उन सबसे बहुत गुस्सा हूं।

यह भी एक संयोग है कि ऋषि कपूर के अंतिम संस्कार में लॉकडाउन की वजह से सिर्फ़ 24 लोगों को शामिल होने की अनुमति मिली थी, जिनमें परिवार के सदस्यों के अलावा कुछ करीबी रिश्तेदार और दोस्त शामिल थे। ऋषि और विनोद ने चांदनी जैसी हिट फ़िल्म में साथ काम किया था। विनोद खन्ना का निधन 27 अप्रैल 2017 को हुआ था