Kisan Credit Card: किसानों को अब नहीं फैलाना पड़ेगा, केसीसी से आसानी से मिलेगा ऋण, ऐसे करें आवेदन

6

Kisan Credit Card: देश किसानों को आर्थिक रुप से समृद्ध बनाने के लिए कई योजनाएं चलायी जा रही है. पीएम सम्मान किसान निधि (PM Kisan Samman Nidhi Yojna) से एक तरफ सरकार अन्नदाताओं को साल में छह हजार रुपये दे रही है. वहीं, किसान क्रेडिट कार्ड की मदद से सब्सिडी के साथ आसानी से ऋण उपलब्ध करा रही है. इस योजना को नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (NABARD) ने शुरू किया था. कृषकों को इस योजना के तहत सेविंग खाता का भी लाभ मिलता है. ये कार्ड किसान को यह कार्ड 15 दिन के भीतर मिल जाता है. इस कार्ड का लाभ पीएम किसान योजना के लाभार्थी को भी मिलेगा. इसके लिए केंद्र सरकार के द्वारा घर-घर जाकर कार्ड बनाने की योजना पर काम किया जा रहा है. इसके साथ ही, कृषि ऋण पोर्टल (Krishi Rin Portal) के माध्यम से केसीसी धारकों को आसानी से कम समय में ऋण उपलब्ध कराने की दिशा में काम किया जा रहा है.

किसान क्रेडिट कार्ड क्या है

किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card-KCC) एक विशेष प्रकार का क्रेडिट कार्ड होता है जो किसानों को फसल उपज, कृषि उपकरण खरीदने, खेती के लिए उपयुक्त सामग्री खरीदने, और अन्य कृषि संबंधित खर्चों के लिए ऋण उपलब्ध कराता है. यह ऋण किसानों को उनकी कृषि आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करता है और उनके वित्तीय स्वतंत्रता को बढ़ावा देता है. किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से, किसान उनकी कृषि आवश्यकताओं के लिए विभिन्न वित्तीय सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं जैसे कि खर्च पर ब्याज मुक्त ऋण, उपयुक्त सीमित समय के लिए और उचित ब्याज दरों पर. किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए उपयुक्त ऋणों के लिए ब्याज दरें आमतौर पर किसानों के लिए अधिक विश्वसनीय होती हैं.

किसान क्रेडिट कार्ड से क्या फायदा है

किसान क्रेडिट कार्ड योजना देश के किसानों को सेठ साहुकारों के महंगे कर्ज से निकालने के लिए शुरू की गयी योजना है. इसके तहत कार्ड धारक किसान को 3 लाख रुपये तक का लोन 4 प्रतिशत के ब्याज दर के हिसाब से दी जाती है. इसके साथ ही, अगर लोन अवधि के अंदर किसान ऋण का भुगतान कर देता है तो उसे तीन प्रतिशत की सब्सिडी भी दी जाती है. केंद्र सरकार की किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत 1.60 लाख रुपये तक का लोन आसानी से मिल जाता है. इसके लिए किसान को किसी तरह का मार्गेज करने की जरूरत नहीं होती है.

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहला कदम यह है कि आपको एक ऐसे बैंक का चयन करना है जो किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा प्रदान करता है. आमतौर पर, यह सभी प्रमुख बैंकों और ग्रामीण बैंकों द्वारा प्रदान किया जाता है. इसके बाद, बैंक में जाकर वहां के एनपीओ या अन्य अधिकारी से बात करें और किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करें. वे आपको आवश्यक दस्तावेज़ और आवश्यक जानकारी प्रदान करेंगे. बैंक आपके आवेदन की जाँच करेगा और यदि आपका आवेदन स्वीकृत हो जाता है, तो आपको एक किसान क्रेडिट कार्ड जारी किया जाएगा. आपको एक बार जब आपका कार्ड मिल जाता है, तो आप इसका उपयोग किसान की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कर सकते हैं, जैसे कि बीज, उर्वरक, कृषि उपकरण, और अन्य संसाधनों के लिए कर सकते हैं.

केसीसी के लिए जरूरी दस्तावेज

किसी भी किसान को केसीसी लेने के लिए इन दस्तावेजों की जरूरत होती है.

आवेदन पत्र

पहचान प्रमाण पत्र (आधार कार्ड, पासपोर्ट, वोटर आईडी कार्ड, आदि)

बैंक खाता विवरण

कृषि ज़मीन के संपत्ति कागज़ात

पिछले दो सीजनों की फसल का विवरण

आय के प्रमाण पत्र

केसीसी से जुड़ी कुछ बातें:

  • ऋण के प्रकार: किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से किसानों को कृषि क्षेत्र में उपलब्ध विभिन्न प्रकार के ऋण प्राप्त करने की सुविधा होती है, जैसे कि सामान्य किसान ऋण, विशेष किसान ऋण, और सुपर्वाइज्ड किसान ऋण आदि.

  • ऋण की राशि: किसान क्रेडिट कार्ड के अंतर्गत किसानों को उनकी खेती और कृषि आवश्यकताओं के हिसाब से ऋण की राशि मिलती है.

  • कार्ड का प्रयोग: किसान क्रेडिट कार्ड का प्रयोग किसानों को खरीददारी के लिए धन निकालने, बैंक से पैसे निकालने, और वित्तीय लेन-देन के लिए किया जा सकता है.

  • स्थायी सिर्फी ऋण: किसान क्रेडिट कार्ड व्यक्तिगत वित्तीय आवश्यकताओं के लिए स्थायी सिर्फी ऋण की प्राप्ति का साधन करता है, जिससे किसानों को अपने वित्तीय संरक्षण को सुनिश्चित करने में मदद मिलती है.

  • विशेष लाभ: किसान क्रेडिट कार्ड के उपयोग से किसान वित्तीय संरक्षण, सुरक्षा, और ऋण उपयोग में सुविधा प्राप्त करते हैं. यह उन्हें बैंकिंग सेवाओं का भी उपयोग करने की सुविधा प्रदान करता है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.