Karnataka Elections 2023: सूची जारी होते ही कर्नाटक बीजेपी में घमासान, कई दिग्गजों ने पार्टी छोड़ने की दी धमकी

2

कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2023 को लेकर बीजेपी ने अपनी पहली सूची जारी की दी है. जिसमें 52 नये नये चेहरे को चुनावी मैदान में उतारा गया है. हालांकि सूची जारी होने के साथ ही बीजेपी कं अंदर घमासान भी शुरू हो चुकी है. राज्य के कई दिग्गज नेताओं ने टिकट नहीं दिये जाने पर पार्टी छोड़ने की धमकी दे दी है.

पूर्व उपमुख्यमंत्री लक्ष्मण सावदी ने भाजपा छोड़ने की घोषणा की

कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री लक्ष्मण सावदी ने भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने की घोषणा कर दी है. वह 10 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव में टिकट की अपेक्षा कर रहे थे. हालांकि पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दिया. सावदी जिले की अथानी विधानसभा सीट से तीन बार विधायक रहे हैं. पिछले चुनाव में उन्हें कांग्रेस के तत्कालीन उम्मीदवार महेश कुमाथल्ली के हाथों पराजय का सामना करना पड़ा था. कुमाथल्ली दल बदलने वाले कांग्रेस के उन नेताओं में थे, जिन्होंने कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन की तत्कालीन सरकार को गिराने और 2019 में बी एस येदियुरप्पा के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनाने में मदद की थी.

पार्टी ने मेरे साथ जो किया उससे बेदह पीड़ा हुई : रघुपति भट

कर्नाटक में होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी का टिकट नहीं मिलने के बाद उडुपी विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक रघुपति भट ने कहा कि पार्टी ने उनके साथ जो व्यवहार किया है उससे उन्हें बहुत पीड़ा हुई है.

जगदीश शेट्टर ने नड्डा से मुलाकात की

भाजपा के दिग्गज नेता और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टर ने पार्टी अध्यक्ष जे. पी. नड्डा से मुलाकात की. पार्टी ने 10 मई को होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए उन्हें टिकट नहीं देने का फैसला किया है. हुबली-धारवाड़ मध्य से मौजूदा विधायक शेट्टर ने पार्टी आलाकमान के फैसले का विरोध कर दिया है और चुनाव लड़ने का दावा ठोक दिया है. शेट्टर ने पार्टी से कहा था कि उन्हें उसका निर्णय स्वीकार नहीं है. उन्होंने पार्टी के शीर्ष नेताओं से इस पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया.

बीजेपी के नाराज नेताओं को मनाने में जुटे मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई

टिकट नहीं मिलने से नाराज चल रहे विधायक और नेताओं को मनाने में जुट गये हैं कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई. उन्होंने कहा, मैं उन सभी से बात कर रहा हूं जो टिकट नहीं मिलने से परेशान हैं, पार्टी उनका सम्मान करती है और उन्हें विधायक बनाया है. लक्ष्मण सावदी का मुझसे और पार्टी से गहरा नाता है. उसने गुस्से में कुछ बातें कहीं. दूसरी सूची के बारे में उन्होंने कहा, बहुत जल्द दूसरी सूची भी जारी कर दी जाएगी. उन्होंने कहा, मेरे लिए यह भी महत्वपूर्ण है कि विरोधी कौन है, मेरे लोगों ने मुझ पर भरोसा किया है. मुझे पता है कि चुनाव कैसे लड़ना है, चाहे विरोधी कोई भी हो. केएस ईश्वरप्पा ने राजनीति से संन्यास नहीं लिया है, वे राजनीति में बने रहेंगे. सीनियर्स उनसे बात कर चुके हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.