karnataka election 2023: पीएम मोदी के चुनाव प्रचार पर लगाई जाए रोक, जानें कांग्रेस ने क्यों की ये मांग

7

karnataka election 2023 : कर्नाटक चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हैं. इस क्रम में बजरंग बली को लेकर प्रदेश की राजनीति गरमा चुकी है. राजस्थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कर्नाटक में ‘बजरंग बली’ का नाम लेकर चुनाव प्रचार किये जाने को लेकर उन पर निशाना साधा और कहा कि निर्वाचन आयोग को प्रधानमंत्री मोदी के कर्नाटक में चुनाव प्रचार करने पर रोक लगानी चाहिए.

राजस्थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने निवास पर मीडिया से बातचीत की. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग को प्रधानमंत्री मोदी जी पर चुनाव प्रचार (कैंपेन) करने पर रोक लगानी चाहिए. यह मांग मैं ऐसे नहीं कर रहा हूं, आप कानून पढ़ लीजिए. यदि कोई चुनाव प्रचार में धर्म के नाम पर या धार्मिक आधार पर बात करता है तो उसके चुनाव प्रचार करने पर रोक लगती है, उसका निर्वाचन खारिज हो सकता है.

पीएम मोदी के चुनाव प्रचार पर लगनी चाहिए रोक

आगे सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि जो प्रधानमंत्री जी बोल रहे हैं, खुलकर बोल रहे हैं,वे छिपा भी नहीं रहे हैं, इशारा भी नहीं कर रहे हैं… उनके चुनाव प्रचार पर रोक लगनी चाहिए. मुख्‍यमंत्री ने इस संदर्भ में राजस्‍थान में भैरोसिंह शेखावत से जुड़ी एक घटना का जिक्र किया जिन्‍होंने अपने चुनाव प्रचार के दौरान राम मंदिर की बात की थी. गहलोत के अनुसार उस समय शेखावत के खिलाफ याचिका दायर की गयी और उनकी विधानसभा सदस्यता के समाप्त होने का खतरा पैदा हो गया था.

क्या कहा था पीएम मोदी ने

यहां चर्चा कर दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को उत्तर कन्नड़ जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर ‘गाली देने की संस्कृति’ का आरोप लगाया और कर्नाटक के लोगों से अपील की कि वे जब 10 मई को मतदान केंद्रों पर मतदान करें तो ‘जय बजरंग बली’ बोल कर उसे सजा दें. उल्लेखनीय है कि कर्नाटक में 10 मई को चुनाव होने वाला है जबकि मतों की गिनती 13 मई को होगी.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.