गुजरात के जूनागढ़ में बारिश का तांडव, तेज बहाव में भैंसें बहीं, देखें VIDEO

31

गुजरात के जूनागढ़ में बारिश ने जमकर तांडव मचाया है. शनिवार दोपहर बादल फटने से शहर में बाढ़ आ गयी और सड़क पर गाड़ियां बहती नजर आईं. यहां केवल 4 घंटे में 8 इंच बारिश हुई जिससे पूरा शहर पानी में डूब गया. शहर से सटे गिरनार पर्वत पर 14 इंच बारिश होने से हालात और बिगड़ते दिखे. पहाड़ का पानी जूनागढ़ शहर में पहुंचा तो सड़कों पर खड़ी गाड़ियां तिनकों की तरह बहती दिखीं.

प्रभाव जोशी (कलेक्टर, राजकोट) ने बताया कि जूनागढ़ में भारी बारिश के चलते सीएम भूपेंद्र पटेल ने कलेक्टर ऑफिस में एक आपातकालीन बैठक बुलाई थी. राहत और बचाव कार्य के लिए राजकोट ज़िले से 4 नगर पालिका की टीम, 25 हज़ार फूड पैकेट, NDRF की टीम आदि जूनागढ़ भेजे जा रहे हैं.

भारी बारिश के बाद हर तरफ पानी ही पानी

जूनागढ़ और नवसारी में बारिश के बाद इलाके के घर पानी में समाते नजर आये. सोशल मीडिया पर नवसारी का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें नजर आ रहा है कि भारी बारिश के बाद हर तरफ पानी ही पानी है. भैंस और गाड़ियां पानी में बहते दिख रहे हैं. नवसारी जिले के निचले इलाकों में घरों में 5 फीट तक पानी भर गया. सड़कें लबालब होने से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है. गिरनार और दातार पर्वत पर भारी बारिश के कारण कालवा नदी उफान पर दिख रही है. इधर, मौसम विभाग ने भावनगर, नवसारी और वलसाड में रेड अलर्ट जारी किया है.

जूनागढ़ में दो घंटे में भारी बारिश

आपको बता दें कि जूनागढ़ में बुधवार सुबह से ही भारी बारिश हो रही है. मौसम विभाग की ओर से जो आंकड़े जारी किये गये हैं, उसके अनुसार जूनागढ़ में शनिवार सुबह 6 से 8 बजे तक दो घंटे में भारी बारिश हुई है. भारी बारिश के बाद जगह-जगह बाढ़ जैसे हालात देखने को मिले. बारिश से सबसे अधिक प्रभावित जिले गीर सोमनाथ, जूनागढ़ और राजकोट हैं जहां सड़कों में पानी ही पानी नजर आ रहा था. आसमान से इतना पानी बरसा कि सड़कों से लेकर घरों तक पानी भर गया और लोग इसमें फंस गये. बारिश के पानी में गाड़ियां डूब गईं और बहने लगी जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

भूपेन्द्र पटेल ने किया हवाई सर्वेक्षण

गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने भारी बारिश से हुए नुकसान का आकलन करने के लिए शुक्रवार को जूनागढ़ और पास के गिर सोमनाथ जिले के कुछ हिस्सों का हवाई सर्वेक्षण किया था. पिछले एक हफ्ते से राज्य के सौराष्ट्र क्षेत्र के जूनागढ़, राजकोट, पोरबंदर, भावनगर, जामनगर, गिर सोमनाथ और देवभूमि द्वारका जिलों के कई हिस्सों में मूसलाधार वर्षा हुई है, जिससे गांवों और कस्बों में जलभराव हो गया है. सीएम पटेल ने मांगरोल, गिर, तलाला, मालिया हटिना और जूनागढ़ तथा गिर सोमनाथ जिलों के आसपास के अन्य क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया, जो जलभराव के कारण प्रभावित हुए हैं.

जिलाधिकारियों को सीएम भूपेंद्र पटेल ने दिया निर्देश

सीएम भूपेंद्र पटेल ने क्षेत्र में भारी बारिश के कारण उत्पन्न मौजूदा स्थिति की समीक्षा के लिए जूनागढ़ शहर में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ शुक्रवार को एक बैठक की अध्यक्षता की. जूनागढ़, पोरबंदर, गिर सोमनाथ, भावनगर और राजकोट जिलों के जिलाधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से समीक्षा बैठक में शामिल हुए. बैठक के दौरान, मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को प्रभावित क्षेत्र में तुरंत सर्वेक्षण करने और भारी बारिश और जलभराव के कारण फसल या घरेलू वस्तुओं का नुकसान उठाने वाले लोगों को वित्तीय सहायता देने का निर्देश दिया. उन्होंने बीमारियों के प्रसार को रोकने के लिए बारिश रुकने के बाद सफाई अभियान चलाने का भी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.