Job Loss Insurance: छटनी के दौर में नौकरी छूटने का डर खत्म, बैंक में आती रहेगी सैलरी, जानें ये खास फॉर्मूला

20

Job Loss Insurance: दुनिया भार में कंपनियों में छंटनी का दौर चल रहा है. एक रिपोर्ट के अनुसार आज ही, शिक्षा प्रौद्योगिकी कंपनी बायजू चालू वित्त वर्ष में 3,500 कर्मचारियों की छंटनी कर सकती है. सूत्रों में से एक के अनुसार, ऑनलाइन शिक्षा में अचानक उछाल के कारण बायजू (BYJU’s) ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के समय लोगों को अधिक काम पर रखा था, लेकिन अब मांग कम हो गई है जिसके लिए कंपनी को बदलाव करने की जरूरत है. हालांकि, अभी तक कंपनी ने किसी को नहीं निकाला है. ऐसी ही कुछ स्थिति आईटी समेत अन्य सेक्टरों में भी बनी हुई है. मगर, इससे आपको घबराने की जरूरत नहीं है. जॉब लॉस इंश्योरेंस कवर (Job Loss Insurance Cover) ऐसा स्थिति में बड़ी राहत दे सकता है. बाजार में इस तरह के कई लिंक्ड बीमा और सब्सक्रिप्शन मौजूद हैं. इसे आप टर्म इंश्योरेंस या अन्य किसी बीमा के साथ अतिरिक्त लाभ यानी राइडर के तौर पर भी एड करवा सकते हैं. जॉब लॉस इंश्योरेंस लेते समय शर्तों और नियमों को लेकर ग्राहकों को सावधानी जरूर बरतनी चाहिए. हर बीमा कंपनी की इससे जुड़ी अलग-अलग शर्तें होती हैं.

जॉब इंश्योरेंस लेने में किन बातों का ध्यान रखें

जॉब लॉस इंश्योरेंस कवर में पॉलिसी शर्तों के मुताबिक नौकरी जाने पर बीमाधारक को आर्थिक सुरक्षा दी जाती है. ज्यादातर बीमा में पॉलिसीधारक को एक निश्चित अवधि तक पैसों की मदद की जाती है. इससे उन्हें कुछ समय तक आर्थिक परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है. वहीं, कई सब्सक्रिप्शन ऐसे हैं जो बीमा धारक को नौकरी खोजने तक में मदद करते हैं. मगर, जॉब इंश्योरेंस खरीदने से पहले कई बातों का ध्यान रखना जरूरी है. बीमा के अपने अलग नियम और शर्तें होती हैं. आपको जॉब इंश्योरेंस कवर में अस्थाई तौर पर निकाले जाने पर भी कवर मिलता है. कुछ कंपनियां, अनुबंध के तहत नौकरी करने वालों के बीमा नहीं देती है. जबकि, कुछ धोखाधड़ी, भ्रष्टाचार या अन्य गलत कार्यों के चलते नौकरी जाने पर इसका लाभ नहीं देती है. ऐसे में, सभी नियमों को ध्यान से पढ़ना जरूरी है.

जॉब इंश्योरेंस खरीदने के लिए क्या है पात्रता

  • आप किसी कंपनी में पूर्णकालिक या स्थायी कर्मचारी हों.

  • अंशकालिक, फ्रीलांसर, अनुबंध या किसी अन्य समान प्रकृति के काम में संलग्न नहीं

  • भारत गणराज्य के क्षेत्र और अधिकार क्षेत्र में कार्यरत

  • कंपनी और क्रेडिट रेटिंग की बीमा की आवश्यकताओं को पूरा करना

  • आवेदनकर्ता की कंपनी रजिस्टर्ड होनी चाहिए. खुद से काम करने वाले लोगों के लिए यह सुविधा नहीं है.

इस बीमा योजना के अंतर्गत क्या शामिल है?

इसके तहत बीमाधारक आर्थिक चक्र मेटेंन रखा जाता है.

  • बीमाधारक को नौकरी खोजने में मदद करना

  • नियोक्ता के कार्य में परिवर्तन

  • श्रम का अधिशेष होने पर नौकरी जाने पर मदद

  • नौकरी जाने पर बीमाधारक को घाटे को कम करने में मदद

  • विलय और अधिग्रहण की स्थिति में

क्या लाभ प्राप्त करने के लिए कोई पात्रता मानदंड है?

  • सदस्यता खरीदने की तारीख से 90 दिनों की प्रतीक्षा अवधि है, जिसके दौरान कोई लाभ नहीं उठाया जा सकता है

  • लाभ के लिए अनुरोध करते समय आपको कंपनी में कम से कम 180 दिन पूरे करने होंगे

वेतन कवर का लाभ कैसे मिलेगा?

आप योजना खरीदने के बाद प्राप्त होने वाले अपने सदस्यता दस्तावेज को अच्छे रखे. वेतन कवर पाने के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहले बर्खास्तगी पत्र की जरूरत होती है. इसके अलावा, छंटनी होने पर इसकी सूचना बीमा कंपनी को देनी होती है. इससे जुड़ा हुआ ईमेल भी बीमा कंपनी को देनी पड़ेगी. ईमेल पर आपके एचआर से एक स्वतंत्र पुष्टि की भी जरूरत होगी. इसके अलावे नौकरी से निकालने का पत्र, नवीनतम 3 महीने की वेतन पर्ची, ज्वाइनिंग या नियुक्ति पत्र, कोई अन्य दस्तावेज़ जैसे पीएफ विवरण की जरूरत होगी. इसके बाद, बीमा कंपनी के द्वारा सफल सत्यापन करने के बाद आपको आर्थिक मदद मिलनी शुरू हो जाएगी. आपको अधिकतम 90 दिनों की अवधि के लिए वेतन कवर प्राप्त होगा. इस बीच आपको अपने लिए नौकरी खोजनी होगी. कवर की राशि बेरोजगारी से हर तीस दिनों पर खाते में आती रहेगी.

बीमा क्या होता है

बीमा एक वित्तीय सुरक्षा योजना है जिसमें व्यक्ति या संपत्ति को किसी अनियामित हादसे, आपत्ति, बीमारी या मौत जैसे आकस्मिक घटनाओं के खिलौने से बचाने के लिए एक वित्तीय संरचना होती है. बीमा व्यक्ति या संपत्ति के खो जाने के परिणामों से जुड़े आर्थिक और वित्तीय हानियों से बचाने का माध्यम प्रदान करती है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.