CP Radhakrishnan झारखंड के राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन को तेलंगाना और पुडुचेरी का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है.

5

CP Radhakrishnan

CP Radhakrishnan: झारखंड के राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन को बड़ी जिम्मेदारी मिली है. उन्हें तेलंगाना के राज्यपाल और पुडुचेरी के उपराज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है. वहीं, अतिरिक्त जिम्मेदारी मिलने पर आज यानी मंगलवार को उन्होंने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया है. राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट करते हुए राष्ट्रपति और पीएम मोदी का आभार जताया है. गौरतलब है कि तेलंगाना की राज्यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन के इस्तीफे के बाद पद खाली हो गया था.

राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने सोशल मीडिया पर दी जानकारी

बता दें, इससे पहले राष्ट्रपति मुर्मू ने तमिलिसाई सुंदरराजन के इस्तीफे के बाद झारखंड के राज्यपाल राधाकृष्णन को तेलंगाना के राज्यपाल और पुडुचेरी के उपराज्यपाल की अतिरिक्त जिम्मेदारी दी है. सोशल मीडिया एक्स पर उन्होंने पोस्ट करते हुए कहा कि मैं तेलंगाना के राज्यपाल और पुडुचेरी के उपराज्यपाल के रूप में सेवा करने की अतिरिक्त जिम्मेदारी दिए जाने पर विनम्र और धन्य हूं. उन्होंने लिखा की ‘मैं हमारी प्रिय परम आदरणीय माननीय राष्ट्रपति श्रीमती को हृदय से धन्यवाद देता हूं. उन्होंने पीएम मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को भी इसके लिए धन्यवाद दिया है.

तमिलिसाई सुंदरराजन के इस्तीफे से खाली हुआ था पद

गौरतलब है कि तेलंगाना की राज्यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन के इस्तीफे से पद खाली हो गया था. सुंदरराजन के पास पुडुचेरी के उपराज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार भी था. मीडिया रिपोर्ट के हवाले से खबर है कि तमिलिसाई सुंदरराजन एक्टिव राजनीति में फिर से शामिल होना चाहती हैं. इस कारण उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दिया है. बता दें, राज्यपाल बनने से पहले सुंदरराजन तमिलनाडु बीजेपी की प्रमुख भी रही थीं. लंबे समय से वो बीजेपी से जुड़ी हुईं हैं. वहीं, किरण बेदी को हटाए जाने के बाद उन्हें पुडुचेरी के उपराज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार दिया गया था.

फिर से एक्टिव राजनीति में जाने की चर्चा

इससे पहले राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने तेलंगाना की राज्यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन का इस्तीफा स्वीकार कर लिया. अपने इस्तीफे में सुंदरराजन ने कहा था कि उन्होंने अपनी मर्जी से इस्तीफा दिया है. उन्होंने कहा था उनकी इच्छा सीधे जनता की सेवा करने की है. उन्होंने कहा था कि मैं खुद को जनता की सेवा में समर्पित करना चाहती हूं. मीडिया हलकों में चर्चा है कि तमिलनाडु से वो लोकसभा चुनाव लड़ सकती है. गौरतलब है कि सौंदरराजन ने 2019 में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर दक्षिणी तमिलनाडु की तुत्तुकुडि सीट से संसदीय चुनाव लड़ा था. हालांकि वो डीएमके की कनिमोई से चुनाव हार गयी थीं.

पढ़े और खबरेंBaba Ramdev: सुप्रीम कोर्ट ने बाबा रामदेव और बालकृष्ण को किया तलब, दिया अवमानना का नोटिसमोदी सरकार की गारंटी का वही होगा, जो 2004 में ‘इंडिया शाइनिंग’ का हुआ, मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.