Jammu & Kashmir Avalanche: गुलमर्ग में हिमस्खलन, एक विदेशी पर्यटक की मौत

7

Jammu Kashmir avalanche

Jammu & Kashmir Avalanche: जम्मू-कश्मीर के गुलमर्ग में गुरुवार को हिमस्खलन की चपेट में आकर एक विदेशी की मौत हो गई. जबकि एक अन्य घायल और एक लापता है. इसकी जानकारी डीडीएमए बारामूला ने दी है.

पांच लोगों को बचाया गया

अधिकारियों ने बताया कि ‘स्की’ करने वाले पांच लोगों को बचाकर स्थानीय अस्पताल ले जाया गया है. हिमस्खलन ने कोंगडोरी को अपनी चपेट में ले लिया, जिसके चलते स्की करने वाले कई व्यक्ति फंस गए. उन्होंने कहा कि विदेशी पर्यटक स्थानीय निवासियों के बिना स्की करने गए थे. सेना के जवान और जम्मू-कश्मीर प्रशासन का एक गश्ती दल खोज व बचाव अभियान में जुटा हुआ है.

सोनमर्ग में हिमस्खलन ने सिंध नदी के प्रवाह को रोह

जम्मू-कश्मीर के सोनमर्ग इलाके में इस समय भारी बर्फबारी हो रही है. हिमस्खलन के कारण सिंध नदी की प्रवाह रूक गई है. जिससे नदी ने अपना प्राकृतिक प्रवाह बदल लिया है और सड़क पर पानी बह रहा है. पिछले तीन दिन में कश्मीर में ‘मध्यम’ से ‘भारी’ बर्फबारी दर्ज की गई है. ऐसे में घाटी के पर्वतीय इलाकों में हिमस्खलन की आशंका बढ़ गई है.

हिमाचल प्रदेश में भी भारी बर्फबारी, बारिश से 405 मार्गों पर आवाजाही बंद, हिमस्खलन की चेतावनी

हिमाचल प्रदेश के जनजातीय और पर्वतीय इलाकों में एक बार फिर से बर्फबारी और बारिश होने के बाद अधिकारियों ने कई इलाकों में हिमस्खलन की चेतावनी जारी की है. राज्य में एक जनवरी से अब तक भूस्खलन, ऊंचाई से गिरने, डूबने और आग लगने से 61 लोगों की मौत हो चुकी है और दो लोग लापता हुए हैं. चार राष्ट्रीय राजमार्ग सहित कुल 405 मार्गों पर बर्फबारी की वजह से वाहनों की आवाजाही बंद हो गयी और बिजली के 577 ट्रांसफार्मर ठप पड़ गये.

तापमान शून्य से 7.1 डिग्री नीचे तक गिरा

हिमाचल के कुसुमसेरी इलाका राज्य का सबसे ठंड स्थान रहा, जहां तापमान शून्य से 7.1 डिग्री नीचे तक गिर गया. वहीं सुमदो में तापमान शून्य से दो डिग्री नीचे, भरमौर व काल्पा में शून्य से 1.2 डिग्री नीचे, नारकंडा में शून्य से 0.5 डिग्री नीचे, मनाली में शून्य से 0.1 डिग्री नीचे और शिमला में 2.9 डिग्री दर्ज किया गया.

शनिवार तक बारिश और बर्फबारी की आशंका

स्थानीय मौसम विज्ञान केंद्र ने अगले चार दिनों के लिए निचले इलाकों और मध्य पहाड़ियों में शुष्क मौसम और गुरुवार एवं शनिवार को ऊंचाई पर स्थित अलग-अलग स्थानों पर बारिश या बर्फबारी की संभावना जताई है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.