Mission Aditya L1: चंद्रमा के बाद सूर्य का रहस्य जानेगा भारत… दो सितंबर को लॉन्च होगा इसरो का सूर्य मिशन

8

आदित्य-एल 1 सूर्य मिशन के लिए प्रक्षेपण को तैयार
चंद्र अभियान की सफलता के बाद भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO, इसरो) सूरज का अध्ययन करने के लिए आने वाले दो सितंबर को सूर्य मिशन के प्रक्षेपण की तैयारी कर रहा है. आदित्य-एल 1 अंतरिक्ष यान को सौर कोरोना (सूरज की सबसे बाहरी परतों) के दूरस्थ अवलोकन और एल1 (सूर्य-पृथ्वी लाग्रेंज बिंदु) पर सौर हवा के यथास्थिति अवलोकन के लिए बनाया गया है. आदित्य- एल1 पृथ्वी से करीब 15 लाख किलोमीटर दूर है. यह सूर्य के अवलोकन के लिए पहला समर्पित भारतीय अंतरिक्ष मिशन होगा, जिससे अंतरिक्ष एजेंसी इसरो द्वारा प्रक्षेपित किया जाएगा. आदित्य-एल1 मिशन का लक्ष्य एल1 के चारों ओर की कक्षा से सूर्य का अध्ययन करना है. यह अंतरिक्ष यान सात पेलोड लेकर जाएगा जो अलग-अलग वेव बैंड में फोटोस्फेयर (प्रकाशमंडल), क्रोमोस्फेयर (सूर्य की दिखाई देने वाली सतह से ठीक ऊपरी सतह) और सूर्य की सबसे बाहरी परत (कोरोना) का निरीक्षण करने में मदद करेंगे.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.