Chandrayaan-3 की कामयाबी से रक्षा और विमान कंपनियों के शेयर हुए रॉकेट, सेंटम इलेक्ट्रॉनिक्स में 19% तक उछाल

9

Chandrayaan-3 की चंद्रमा की सतह पर सफल लैंडिंग से जहां भारत में उत्साह का माहौल है. वहीं, शेयर बाजार भी इस उत्सव में शामिल हो गया है. विमान, अंतरिक्ष एवं रक्षा क्षेत्र से संबंधित कंपनियों के शेयरों में बृहस्पतिवार को तेजी देखने को मिल रही है. चंद्रयान-3 अभियान में 200 से भी अधिक कलपुर्जों की आपूर्ति करने वाली कंपनी सेंटम इलेक्ट्रॉनिक्स भी शामिल है. सेंटम इलेक्ट्रॉनिक्स का शेयर बृहस्पिवार की सुबह 11.30 बजे 19.69 प्रतिशत तक उछल गया जबकि पारस डिफेंस एंड स्पेस टेक्नोलॉजीज लिमिटेड के शेयर में 17.30 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई. इसी तरह एमटीएआर टेक्नोलॉजीज में 10.32 प्रतिशत और हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड के शेयर में 2.69 प्रतिशत की तेजी देखी गई. रक्षा क्षेत्र से जुड़ी कंपनी भारत फोर्ज का शेयर 1.63 प्रतिशत, अस्त्रा माइक्रोवेव प्रोडक्ट्स में 2.63 प्रतिशत और लार्सन एंड टुब्रो में 1.82 प्रतिशत की वृद्धि हुई.

52 सप्ताह के उच्चतम स्तर पर पहुंचे शेयर

गुरुवार की सुबह शुरुआती कारोबार में अधिकतर कंपनियों के शेयर अपने 52 सप्ताह के उच्चतम स्तर पर पहुंच गए. रक्षा तथा वैमानिकी क्षेत्र के शेयरों में बुधवार को भी उछाल आया था. जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज में मुख्य निवेश रणनीतिकार वी. के. विजयकुमार ने कहा कि चंद्रयान-3 की चांद पर सफल लैंडिंग का भारतीय बाजार पर सकारात्मक असर दिखा. इससे पहले बुधवार को भी बीएसई पर सेंटम इलेक्ट्रॉनिक्स का शेयर 14.91 प्रतिशत तक उछल गया जबकि पारस डिफेंस एंड स्पेस टेक्नोलॉजीज लिमिटेड के शेयर में 5.47 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई. इसी तरह एमटीएआर टेक्नोलॉजीज में 4.84 प्रतिशत और हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड के शेयर में 3.57 प्रतिशत की तेजी देखी गई.

भारत फोर्ज में भी दिखी तेजी

बुधवार को रक्षा क्षेत्र से जुड़ी कंपनी भारत फोर्ज का शेयर 2.82 प्रतिशत, अस्त्रा माइक्रोवेव प्रोडक्ट्स में 1.72 प्रतिशत और लार्सन एंड टुब्रो में 1.42 प्रतिशत की वृद्धि हुई. खास बात यह है कि इनमें से अधिकार कंपनियों के शेयर कारोबार के दौरान पिछले एक साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गए. मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड के प्रमुख (खुदरा शोध) सिद्धार्थ खेमका ने कहा कि चंद्रयान-3 अभियान में इस्तेमाल हुए कलपुर्जों की आपूर्ति करने वाली कई रक्षा कंपनियों के शेयर सफल लैंडिंग की संभावना से चढ़ गए. स्टॉक्सबॉक्स में तकनीकी एवं डेरिवेटिव विश्लेषक रिचेज वनारा ने कहा कि चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग के पहले शेयर कारोबार के दौरान एलएंडटी, एमटीएआर और एचएएल जैसी रक्षा कंपनियों को लेकर बाजार में खासा रुझान देखा गया.

बुधवार को मजबूती के साथ बंद हुआ था बाजार

भारतीय बाजार में पिछले कारोबारी दिन में BSE सेंसेक्स के शेयरों में आईसीआईसीआई बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, लार्सन एंड टुब्रो, मारुति, टाटा स्टील, कोटक महिंद्रा बैंक, बजाज फाइनेंस, नेस्ले, पावर ग्रिड और एचडीएफसी बैंक प्रमुख रूप से लाभ में रहे. दूसरी तरफ नुकसान में रहने वाले शेयरों में जियो फाइनेंशियल सर्विसेज, भारती एयरटेल, टाटा मोटर्स, टेक महिंद्रा, आईटीसी, अल्ट्राटेक सीमेंट और महिंद्रा एंड महिंद्रा शामिल हैं. जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि बैंक क्षेत्र में अच्छी मांग से घरेलू मोर्चे पर धारणा सकारात्मक बनी हुई है। हालांकि, सूचना प्रौद्योगिकी और दवा कंपनियों के शेयरों ने तेजी पर अंकुश लगाया. नायर ने कहा कि वैश्विक बाजारों में कारोबार सीमित दायरे में रहा. निवेशकों को केंद्रीय बैंक के प्रमुखों के शुक्रवार को अमेरिका में जैक्सन होल कार्यक्रम का इंतजार है. रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड के एसवीपी (तकनीकी अनुसंधान) अजित मिश्रा ने कहा कि बाजारों में उतार-चढ़ाव रहा और किसी ठोस संकेत के अभाव में वे सकारात्मक रुख के साथ बंद हुए. बीएसई स्मॉलकैप सूचकांक 0.60 प्रतिशत और मिडकैप सूचकांक 0.42 प्रतिशत मजबूत हुए. एशिया के अन्य बाजारों में जापान का निक्की और हांगकांग का हैंगसेंग लाभ में, जबकि दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और चीन का शंघाई कम्पोजिट नुकसान में रहे.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.