इंदौर की महिला ने 45 दिनों में जमा किया 2.5 लाख, जब बताया अपना काम, हैरान रह गए सब

4

अगर आपसे 45 दिनों में 2.5 लाख कमाने को कहा जाये तो आप कौन-कौन सा रोजगार या काम करने के बारे में सोचेंगे. क्या भीख मांगने के बारे में सोच सकते हैं. मध्य प्रदेश के शहर इंदौर में एक चौंका देने वाला मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि उज्जैन रोड पर लवकुश चौराहे के पास एक महिला को भीख मांगते पकड़ा गया. महिला के साथ एक आठ साल की बच्ची को भी रेस्क्यू किया गया है. इसके बाद, बच्ची को बाल संप्रेषण गृह और महिला को बाल कल्याण समिति के सामने पेश गया. महिला के पास से 19 हजार 200 रुपए मिले. महिला ने कहा कि वो चोरी नहीं करती है. बल्कि सात दिनों में उसने भीख मांगकर ये पैसा कमाया था. महिला ने बताया कि 45 दिनों में 2.5 लाख रुपये कमाया था. महिला का पूरा परिवार भीख मांगने का काम करता है.

बच्चों के नाम पर किया 50 हजार का एफडी

महिला की काउंसिलिंग कर रही रुपाली जैन ने बताया कि भीखारी महिला को संस्थान के द्वारा प्रशिक्षण लेकर सम्मानजनक जिंदगी जीने के लिए प्रेरित किया जा रहा है. मगर, वो जिंद कर रही है कि वो यही काम करेगी क्योंकि इसमें ज्यादा पैसा है. उसने 45 दिनों में एक लाख रुपये गांव भेजा है. जबकि, 50 हजार का बच्चे के नाम पर एफडी कराया है. वहीं, 50 हजार रुपये खर्च किया. महिला ने बताया कि 15 दिन में 30 से 35 हजार रुपए की कमाई हो जाती है. पर्व और शादी के सीजन में 15 दिनों में 50 हजार तक की कमाई हो जाती है. बताया जा रहा है कि जिस वक्त टीम ने महिला को पकड़ा वो बैसाखी के सहारे चल रही थी. मगर, टीम को देखकर दौड़ने लगी.

महिला के पास है घर, जमीन और स्मार्ट फोन भी

भीखारी महिला ने बताया कि वो और उसका पति पिछले आठ सालों से इंदौर आना-जाना है. थोड़े दिन इंदौर में रहकर वो फिर से गांव चले जाते हैं. उसके पास गांव में थोड़ी जमीन, घर और स्मार्ट फोन भी है. महिला ने बताया कि ‍उसके परिवार के लोग देश से सात शहरों में अलग-अलग स्थानों पर भीख मांगते हैं. अगर पकड़े भी जाते हैं तो फिर उसी जगह फिर चले आते हैं या परिवार के किसी दूसरे सदस्य को वहां भेज देते हैं. मगर अपना स्पॉट नहीं छोड़ते हैं. भीखारी महिला ने बताया कि उसके पति के पास गाड़ी भी है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.