कनाडा में हिंदू सुरक्षित नहीं? लक्ष्मी नारायण मंदिर के प्रमुख के घर पर फायरिंग

6

कनाडा और भारत के रिश्ते तनावपूर्ण बने हुए है. इस बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है. जानकारी के अनुसार, कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया में सरे में लक्ष्मी नारायण मंदिर के प्रमुख के बेटे के आवास पर गोलीबारी की गई है. मामले की जांच जारी है. जांच कर रहे अधिकारी अभी तक हमले के मकसद का पता नहीं लगा पाए हैं. हमलावरों की तलाश जारी है. इस खबर को अंग्रेजी वेबसाइट हिंदुस्तान टाइम्स ने प्रकाशित की है. घटना को लेकर मंदिर के प्रमुख सतीश कुमार ने बताया कि 11 से 14 गोलियां चलाई गईं. मैं इस बारे में कुछ नहीं कह सकता कि ऐसा क्यों हुआ? आगे कुमार ने कहा कि इलाके में जबरन वसूली के मामले देखने को मिले हैं. मेरे बेटे ने हाल ही में एक बीमा एजेंसी बेचने का काम किया है, हो सकता है हमलावरों ने सोचा होगा कि उसके पास बहुत पैसा है.

उल्लेखनीय है कि लक्ष्मी नारायण मंदिर तब खबरों में था, जब इसके सदस्यों ने सरे में खालिस्तानी नेता हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के खिलाफ अलगाववादी समूह सिख फॉर जस्टिस के प्रदर्शन का विरोध किया था. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने निज्जर की हत्या में भारत सरकार के एजेंटों की संलिप्तता के आरोप लगाया था. इसके बाद भारत और कनाडा के बीच राजनयिक विवाद पैदा हो गया था. इस आरोप के कारण भारत को कनाडा से अपने 62 राजनयिकों में से 41 को वापस बुलाने के लिए कहना पड़ा था.

मंदिर के प्रमुख सतीश कुमार और उनके बेटे का है करोबार

कुछ दिन पहले खालिस्तानी समथर्कों ने सरे मंदिर के गेट और दीवारों पर भारत के राजनयिकों को निशाना बनाते हुए पोस्टर चिपकाए थे. यही नहीं ब्रिटिश कोलंबिया में मंदिरों में तोड़फोड़ के कई मामले सामने आ चुके हैं. खबरों की मानें तो मंदिर के प्रमुख सतीश कुमार और उनके बेटे का करोबार है और क्षेत्र में उनकी खासी पहचान है. इस इलाके से कई बार जबरन वसूली के प्रयास की खबरें आ चुकी हैं. 23 नवंबर को, पुलिस ने कारोबारियों को निशाना बनाकर की जाने वाली जबरन वसूली की बात कही थी.

जिस घर पर गोलियां चलाई गई है, वहां छर्रे के निशान

लक्ष्मी नारायण मंदिर परिषद के सदस्य परषोतम गोयल की प्रतिक्रिया मामले को लेकर आई है. उन्होंने कहा है कि हमले ने चिंता बढ़ा दी है. इस बात का कोई सुराग नहीं है कि गोलीबारी के पीछे कौन था? हम बिना सबूत के किसी पर आरोप नहीं लगाना चाहते हैं. वहीं रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस की सरे इकाई ने एक बयान में कहा कि हमले की जांच जारी है. बताया जा रहा है कि हमले में कोई हताहत नहीं हुआ लेकिन जिस घर पर गोलियां चलाई गई है, वहां छर्रे के निशान हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.