Indian Economy: सीआईआई का बड़ा दावा, 6.8 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी भारतीय अर्थव्यवस्था

6
GDP Growth
indian economy

भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) को उम्मीद है कि बुनियादी ढांचे की वृद्धि पर सरकार के निरंतर ध्यान देने और कारोबार सुगमता को बढ़ावा देने से देश की अर्थव्यवस्था चालू वित्त वर्ष 2023-24 में 6.8 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी और 2024-25 में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) की वृद्धि दर सात प्रतिशत पर पहुंच जाएगी.

Indian Economy

सीआईआई के अध्यक्ष आर दिनेश ने कहा कि 6.8 प्रतिशत की वृद्धि दर उद्योग निकाय के पहले के अनुमान 6.5-6.7 प्रतिशत से अधिक होगी. दिनेश टीवीएस सप्लाई चेन सॉल्यूशंस के कार्यकारी वाइस चेयरमैन भी हैं.

FMCG
Indian Economy

सीआईआई के अध्यक्ष ने कहा कि शुरुआत में हमने 6.5-6.7 प्रतिशत कहा था. अब हम कह रहे हैं कि इस वर्ष यह 6.8 प्रतिशत होने जा रही है और अगले साल हम इसके सात प्रतिशत होने की उम्मीद कर रहे हैं. पहली छमाही में यह 6.8 प्रतिशत रही. वास्तव में मैं कहूंगा कि यह एक रुढ़िवादी आकंड़ा है क्योंकि यदि आप देखें कि पहली छमाही में क्या हुआ है, तो हम यहां रुढ़िवादी हो रहे हैं.

indian economy

हाल के राज्यों के विधानसभा चुनाव पर उन्होंने कहा कि शेयर बाजार और उद्योग नीति में निरंतरता के पक्ष में हैं. विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने तीन राज्यों राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में जीत हासिल की, जबकि तेलंगाना में कांग्रेस ने जीत दर्ज की.

india
Indian Economy

आर दिनेश ने कहा कि हम नीति में निरंतरता का स्वागत करते हैं और यह सुनिश्चित करते हैं कि आम सहमति देश में वृद्धि के लिए हो. हमारे लिए नीति में निरंतरता बहुत महत्वपूर्ण है. यह ऐसी चीज है कि जो भी पार्टी सत्ता में हो हम यह सुनिश्चित करते हैं कि हम इसपर कायम रहें. शेयर बाजार इस बात से खुश है कि निरंतरता कायम है.

Indian Economy

सितंबर में समाप्त चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में भारत की अर्थव्यवस्था ने 7.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है. एक साल पहले इसी तिमाही में यह 6.2 प्रतिशत थी. विनिर्माण क्षेत्र में जीवीए वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 13.9 प्रतिशत रही जबकि एक साल पहले इसी तिमाही में इसमें 3.8 प्रतिशत की गिरावट आई थी.

(भाषा इनपुट के साथ)

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.