आखिर भारत-चीन सीमा से लगे इस गांव में क्यों जा रहे हैं अमित शाह ? जानें

3

Amit Shah visit to Arunachal Pradesh : भारत और चीन के बीच जारी तनाव के मध्य केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का अरुणाचल प्रदेश दौरा आज से शुरू हो रहा है. अपने अरुणाचल प्रदेश के दो दिवसीय दौरे पर शाह भारत-चीन सीमा से लगे किबितू गांव पहुंचेंगे और यहां वे ‘वाइब्रेंट विलेजेस प्रोग्राम’ (वीवीपी) की शुरुआत करेंगे. अधिकारियों की ओर से इस बाबत जानकारी दी गयी है.

गृह मंत्री बनने के बाद इस पूर्वोत्तर राज्य में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का यह पहला दौरा है. अधिकारियों ने बताया कि शाह किबितू में सोमवार को ‘स्वर्ण जयंती सीमा प्रकाश कार्यक्रम’ के तहत निर्मित राज्य सरकार की नौ सूक्ष्म पनबिजली परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे. ये बिजली परियोजनाएं सीमावर्ती गांवों में रहने वाले लोगों को सशक्त बनाने का काम करेगी.

गृह मंत्री किबितू में आईटीबीपी कर्मियों से भी करेंगे बातचीत

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह लिकाबाली (अरुणाचल प्रदेश), छपरा (बिहार), नूरानड (केरल) और विशाखापत्तनम (आंध्र प्रदेश) में बुनियादी ढांचे को सशक्त करने के लिए भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) की परियोजनाओं का भी उद्घाटन करेंगे. गृह मंत्री किबितू में आईटीबीपी कर्मियों से भी बातचीत करेंगे.

वालॉंग युद्ध स्मारक पर श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे अमित शाह

मंगलवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह नमती इलाके जाएंगे और वालॉंग युद्ध स्मारक पर श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार ने वित्तीय वर्ष 2022-23 से 2025-26 के लिए सड़क संपर्क के लिए विशेष रूप से 2500 करोड़ रुपये सहित 4800 करोड़ रुपये के केंद्रीय योगदान के साथ ‘वाइब्रेंट विलेजेस प्रोग्राम’ (वीवीपी) को मंजूरी दी है.

यह एक केंद्र प्रायोजित योजना है जिसके तहत उत्तरी सीमा से सटे अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के 19 जिलों के 46 ब्लॉक में 2,967 गांव की व्यापक विकास के लिए पहचान की गयी है. पहले चरण के लिए आंध्र प्रदेश के 455 सहित 662 गांव की पहचान की गयी है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.