India Canada Row: भारत-कनाडा टेंशन के बीच अमेरिका का बड़ा बयान, ट्रूडो के आरोप पर कर दी यह मांग

37

India Canada Row: सिख अलगाववादी नेता हरदीप सिंह निज्जर हत्याकांड मामले को लेकर जहां भारत और कनाडा के बीच तल्खियां बढ़ गई है. दोनों देशों के बीच के राजनीतिक संबंध में दरार पड़ता जा रहा है. मित्रवत संबंध कब बहाल होंगे इसकी कोई सुगबुगाहट नहीं हो रही है. दुनिया के तमाम देशों की निगाहें पर और कनाडा के बिगड़ते रिश्तों पर बनी हुई है. अमेरिकी भी शुरुआत से दोनों देशों के बीच छिड़े विवाद पर नजर बनाए हुए है. इसकी कड़ी में अमेरिका की ओर से मामले पर बड़ा बयान सामने आया है. अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के बयान ने भारत की परेशानी बढ़ा दी है. अमेरिका ने कहा है कि सिख अलगाववादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के मामले को लेकर कनाडा की जांच आगे बढ़नी चाहिए और अपराधियों को न्याय के दायरे में लाया जाना चाहिए.

निज्जर मामले की जांच आगे बढ़नी चाहिए- अमेरिका
अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हम कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की ओर से लगाए गए आरोपों को लेकर बहुत चिंतित है. हम अपने कनाडाई साझेदारों के निकट संपर्क में हैं. इसी कड़ी में एक सवाल के जवाब में मिलर ने कहा कि मेरा मानना है कि कनाडा की जांच को आगे बढ़ाना और अपराधियों को न्याय के दायरे में लाया जाना अहम है. हमने भारत सरकार ने कनाडा की जांच में सहयोग करने की सार्वजनिक और निजी रूप से अपील की है. बता दें, कनाडा ने आरोप लगाया है कि निज्जर की हत्या के पीछे भारतीय प्राधिकारियों का हाथ था. वहीं भारत ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताकर सिरे से खारिज कर दिया है.

कनाडा में सिख संगठनों का विरोध प्रदर्शन
इधर खालिस्तानी आतंकवादी निज्जर की हत्या के विरोध में विश्व सिख संगठन की ओर से जोर शोर से किया जा रहा है. विश्व सिख संगठन के प्रमुख तेजिंदर सिंह सिद्धू ने निज्जर के हत्यारों की पता लगाने की मांग की है. खालिस्तानी समर्थकों ने निज्जर की हत्या के विरोध में प्रदर्शन के दौरान खालिस्तानी झंडे लहराए और नारेबाजी की. भीड़ ने भारतीय वाणिज्य दूतावास के बाहर भी प्रदर्शन किया. विरोध को देखते हुए भारतीय दूतावास की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. दूतावास की तरफ आने वाले सड़कों पर पुलिस ने बैरिकेट्स लगा दिए हैं.

बता दें, बीते दिनों कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तान टाइगर फोर्स के प्रमुख निज्जर की हत्या में भारत का हाथ होने का आरोप लगाया था. इसके बाद भारत और कनाडा के बीच तनाव बढ़ गया, जो अब लगातार बढ़ता जा रहा है. भारत और कनाडा के रिश्तों में तल्खी फिलहाल कहीं से भी कम होती नजर नहीं आ रहा है.दोनों देश एक दूसरे के शीर्ष राजनयिकों को पहले ही निष्कासित कर चुके हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.