एक झटके में कोरोना ने बदल दिया दिल्ली में सियासत का मिजाज

0 117

केजरीवाल अपने मंत्रियों और आम आदमी पार्टी के विधायकों के साथ संकट पर मंथन करने के साथ ही विपक्ष के सुझावों पर भी अमल कर रहे हैं।

दिल्ली न्यूज़ 24 रिपोर्टर(अमित लाल)। एक महीने से चल रहे लॉकडाउन ने न सिर्फ हमारी दिनचर्या और कामकाज का तौर तरीका बदला है बल्कि राजनीति के अंदाज में भी इस दौरान सुखद परिवर्तन दिख रहा है। इस अज्ञात दुश्मन को पराजित करने के लिए सियासतदानों में भी सहयोग की भावना बढ़ी है। राजनीति से ऊपर उठकर वह जनसेवक की भूमिका में हैं।

सभी एक इकाई की तरह काम करते हुए इस जंग में जीत हासिल करने में लगे हुए हैं। हर पार्टी व नेता जरूरतमंदों की मदद कर रहा है। उनके साधन और तरीके अलग हो सकते हैं, लेकिन मूल में राजधानी को कोरोना से मुक्त करना है। इन दिनों नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप और जुबानी जंग का दौर थम सा गया है।

विपक्षी नेताओं का भी सुझाव मान रहे सीएम केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने मंत्रियों और आम आदमी पार्टी (आप) विधायकों के साथ संकट पर मंथन करने के साथ ही विपक्ष के सुझावों पर भी अमल कर रहे हैं। सांसद भी सरकार का सहयोग कर रहे हैं। आप, भाजपा और कांग्रेस पार्टी रसोई चलाकर लोगों को भोजन उपलब्ध करा रही है।

तीनों प्रमुख पार्टियां जरुरतमंदों की कर रहीं मदद

दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज मनोज तिवारी ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान जरूरदमंदों तक भाजपा कार्यकर्ता भोजन पहुंचा रहे हैं। संकट की इस घड़ी में हमारी एकजुटता ही हमारी ताकत है। वहीं आम आदमी पार्टी के दिल्ली संयोजक व कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने कहा कि लॉकडाउन में आप ने जरूरतमंदों को भोजन व रहने के लिए स्थान उपलब्ध कराया। मुख्यमंत्री का वादा है कि कोई भूखा नहीं सोएगा, हम उसी पर काम कर रहे हैं। उधर, दिल्ली कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी ने कहा कि कोरोना से जंग में हम सभी साथ हैं। गरीबों की मदद के लिए कांग्रेस भी 94 जगह रसोई चला रही है। जरूरतमंदों को राशन भी बांटा जा रहा है।