बॉस ने किया परेशान तो कर्मचारियों ने कर दिया ये कांड, पत्नी के पास भेज दी तसवीर

8

गुजरात के वडोदरा शहर से ऐसी खबर आ रही है जो पूरे देश में चर्चा का विषय बन गई है. दरअसल, यहां एक परेशान करने वाले बॉस को कर्मचारियों ने ऐसा सबक सिखाया जो खबरों में है. इसको लेकर अंग्रेजी वेबसाइट टाइम्स ऑफ इंडिया ने खबर प्रकाशित की है. खबरों की मानें तो बॉस को दो कर्मचारियों ने मिलकर सबक सिखाया. बॉस को हनीट्रैप का शिकार बनाकर तीन महीने तक इन्होंने परेशान किया. कर्मचारियों ने बॉस को नग्न तसवीर भेजने के लिए प्रेशर बनाया जिसके बाद यह उसके पहचान वाले लोगों के बीच वायरल कर दिया गया. उसकी पत्नी के पास भी यह तसवीर पहुंच गई.

बॉस को परेशान करने वाले दो लोगों में से एक, सॉफ्टवेयर फर्म की प्रमोटर, एक महिला है जिसने नौकरी छोड़ दी थी. बताया जा रहा है कि बॉस के द्वारा प्रताड़ित करने के बाद उसने नौकरी छोड़ दी थी. खबरों की मानें तो तीन महीने पहले, महिला ने अपने एक मेल फ्रेंड के साथ प्लान तैयार किया और बॉस को सबक सिखाने का पूरा खाका तैयार किया. इन्होंने हनी-ट्रैप में बॉस को फंसाकर और ब्लैकमेल करके अपमान का बदला लेने की तैयारी की.

बॉस हो गया परेशान

इस कृत्य के बाद बॉस परेशान हो गया. उसकी रात की नींद उड़ गई. तीन महीने तक परेशान होने के बाद उसने साइबर पुलिस से संपर्क किया और शिकायत दर्ज कराई. पुलिस इसके बाद कर्मचारियों तक पहुंची और पूछताछ की. पूछताछ के क्रम में पता चला कि बॉस के द्वारा उन्हें अकसर डांटा जाता था साथ ही मजाक उड़ाने की उसकी आदत थी, जिससे दोनों मानसिक रूप से परेशान थे. पुलिस ने बताया कि नौकरी छोड़ चुकी महिला ने अपने दोस्त के साथ मिलकर सबक सिखाने का प्लान तैयार किया. दोनों ने मिलकर एक महिला का फर्जी इंस्टाग्राम अकाउंट बनाया और चार महीने पहले बॉस के साथ चैट करना शुरू किया.

अडल्ट मैसेज भेजना दोनों ने शुरू किया

दोनों ने अकाउंट से कुछ अडल्ट मैसेज भेजना शुरू किया. बॉस को लगा कि एक महिला उनके साथ चैट कर रही है. दोनों ने एक वेबसाइट से डाउनलोड की हुई कुछ नग्न तस्वीरें भी भेजीं जिसके बाद बॉस उनके जाल में फंस गया और दोनों द्वारा चलाए जा रहे अकाउंट पर अपनी नग्न तस्वीरें भेज दीं. इसके बाद उन्हें इस अकाउंट से कोई मैसेज नहीं मिला. कुछ दिनों के बाद, उन्होंने बॉस को उनकी नग्न तस्वीरें और उनकी यौन चैट के स्क्रीनशॉट उनके ईमेल पर भेज दिये. इसके बाद बॉस घबरा गया क्योंकि उसे नहीं पता था कि किसने उसे हनीट्रैप में फंसाया है. सितंबर के महीने में, इसी तरह का एक ईमेल दोनों ने फर्म के एचआर विभाग को भेजा था.

तसवीरें और चैट पत्नी को मेल पर भेजी

ये जोड़ी यहीं नहीं रुकी. उन्होंने तसवीरें और चैट उसकी पत्नी को मेल कर दीं. यही नहीं तस्वीरों का एक प्रिंटआउट स्पीडपोस्ट के माध्यम से उस कार्यालय को भेज दिया जहां वह काम करती है. जब बॉस को नवंबर में एक शॉपिंग मॉल की उनकी यात्रा की तस्वीरें मेल की गईं तो उनका दिमाग घूम गया. पुलिस ने कहा कि दोनों उसका पीछा भी कर रहे थे और वह चाहते थे कि बॉस की रातों की नींद हराम हो जाए. बताया जा रहा है कि जब नवंबर के अंत तक ऐसे इमेल में कमी नहीं आई तो बॉस ने साइबर क्राइम विभाग से संपर्क करने का फैसला किया, जिसने आईपी पते के माध्यम से दोनों को ट्रैक किया. वडोदरा के एसीपी (साइबर क्राइम) हार्दिक मकाडिया ने मामले को लेकर कहा कि यह कॉर्पोरेट दुश्मनी का मामला था. हमने आवश्यक कानूनी कदम उठाए हैं, लेकिन शिकायतकर्ता मामले को आगे बढ़ाने के मन में नहीं है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.