HOW TO : जन धन योजना ने बनाया रिकॉर्ड, जानें कैसे खुलेगा बैंक में आपका अकाउंट

7

Jan Dhan Yojana : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 15 अगस्त 2014 को दिल्ली के लाल किले से जन धन योजना की शुरुआत की थी. जिसे 28 अगस्त 2014 पूरे भारत में लागू करने का काम किया गया था. प्रधानमंत्री जन धन योजना के 9 साल पूरे होने पर केंद्रीय सचिव वित्तीय सेवा विभाग (वित्त मंत्रालय) विवेक जोशी का बयान सामने आया है. उन्होंने कहा है कि अगस्त के अंत तक देश में जन धन बैंक खातों की संख्या 50 करोड़ से अधिक हो चुकी है…मुझे लगता है कि हम संतृप्ति के करीब पहुंच गये हैं.

कुल जमा दो लाख करोड़ रुपये के पार

पिछले नौ वर्षों में प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत 50.09 करोड़ से अधिक खाते खोले गये हैं और इन खातों में जमा राशि बढ़कर 2.03 लाख करोड़ रुपये से अधिक हो गयी है. वित्त मंत्रालय की ओर से यह जानकारी दी गयी है. प्रधानमंत्री जनधन योजना (पीएमजेडीवाई) 28 अगस्त 2014 को शुरू की गयी थी, जिसका उद्देश्य उन परिवारों के लिए शून्य रुपये की न्यूनतम जमा राशि वाले बैंक खाते खोलना था, जो अभी तक बैंकिंग सेवाओं से वंचित थे. वित्तीय सेवा सचिव विवेक जोशी ने कहा कि अगस्त, 2023 तक पीएमजेडीवाई खाताधारकों को 33.98 करोड़ रुपे कार्ड जारी किए गए. यह आंकड़ा मार्च 2015 के अंत में 13 करोड़ था.प्रधानमंत्री जनधन योजना

जोशी ने कहा कि वर्तमान में देश में 225 करोड़ बैंक खाते हैं. आंकड़ों से पता चलता है कि कई लोगों के पास एक से अधिक बैंक खाते हैं. कुल मिलाकर खाता खोलने के मामले में, हम पूर्णता के करीब हैं. उन्होंने कहा कि जनधन योजना के तहत अगस्त 2023 तक शून्य राशि वाले खाते, कुल खातों के मुकाबले आठ प्रतिशत थे. यह आंकड़ा मार्च 2015 में 58 प्रतिशत था. जनधन योजना के नौ साल पूरे होने से पहले जोशी ने कहा कि हमने अगस्त में 50 करोड़ खाता खोलने का आंकड़ा सफलतापूर्वक हासिल कर लिया है. हर साल औसतन 2.5-3 करोड़ जेडीवाई खाते खोले गए हैं. आइए जानते हैं इस योजना के बारे में विस्तार से…

प्रधानमंत्री जन धन योजना से मिलने वाले लाभ के बारे में जानें (Jan Dhan Yojana Ke Fayde)

-योजना के माध्यम से लाभार्थी जीरो रुपये में खाता खुलवाने में सक्षम है.

-जमा राशि पर ब्याज दिया जाता है.

-एक लाख रुपये तक का दुर्घटना बीमा कवर खाता खुलवाने वाले को दिया जाता है.

-प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत बीमित व्यरक्ति के किसी भी कारण से मृत्यु होने पर मृतक के परिवार को 30,000 रुपये का जीवन बीमा कवर दिया जाता है.

-इस खाता के माध्यम से पूरे भारत में धन राशि का आदान-प्रदान किया जा सकता है.

-किसी भी सरकारी योजना के माध्यम से मिलना वाला लाभ इस खाते के माध्यम से अकाउंट धारक को दिया जाता है.

-छः माह तक खाते का सुचारू रूप से चलाने पर आवेदक को ओवरड्राफ्ट की सुविधा दी जाएगी, जिसकी धनराशि दस हजार रुपये है.

-जन धन योजना के माध्यम से खाता खुलवाने वाले खाताधारकों को रुपये डेबिट कार्ड दिया जाता है, जिससे उन्हें एटीएम के माध्यम से राशि को आसानी निकालने में सुविधा हो.

-खाताधारक को मुफ्त में मोबाइल बैंकिंग की सुविधा भी दी जाती है.

क्या है प्रधानमंत्री जन धन योजना का उद्देश्य

देश में बहुत से ऐसे कमजोर आय वर्ग के लोग है जो बैंकिंग सुविधा से वंचित रह जाते हैं. केंद्र के मोदी सरकार के द्वारा ऐसे लोगों को वित्तीय समावेश करने के उद्देश्य से इस योजना की शुरुआत की गयी. इसके माध्यम से आवेदकों की बैंक की समस्त सुविधा जैसे- राशि का आदान-प्रदान, ऋण लेना, बीमा, पेंशन आदि प्रकार की सुविधा मुहैया दी जाती है.

प्रधानमंत्री जन धन योजना में क्या दस्तावेज होगा जरूरी

जन धन खाता खुलवाने के लिए आपको पास निम्न प्रकार के दस्तावेजों का होना आपके पास जरूरी है.

-पहचान प्रमाण पत्र जैसे- आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि.

-मोबाइल नंबर

-फोटोग्राफ

-स्थाई पता का दस्तावेज.

ऐसे खोलें जनधन खाता

-सबसे पहले आपको अपने नजदीकी बैंक जाना होगा.

-फिर आपको जन धन योजना के फॉर्म के लेना होगा.

-इस फॉर्म में आपको सभी आवश्यक जानकारी जैसे- नाम, पता, आयु आदि जानकारी को भर दें.

-फॉर्म भरने के बाद आप अपने दस्तावेजों को अटैच कर दें और फिर इसे बैंक में जमा कर दे. बैंक के द्वारा आपको खाता खोल दिया जायेगा.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.