VIDEO: हिमाचल में भारी बारिश से तबाही, कुल्लू में 8 इमारतें ढहीं, लैंडस्लाइड से 12 की मौत

31

हिमाचल प्रदेश में बारिश और भूस्खलन से तहाबी का दौर जारी है. कुल्लू में बारिश की वजह से बस स्टैंड के पास की 8 इमारतें ढह गई हैं. हालांकि राहत की बात है कि इस हादसे में किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ है.

प्रशासन की मुस्तैदी से बच गयी सैकड़ों की जान

प्रशासन की मुस्तैदी की वजह से कुल्लू में भूस्खलन से सैकड़ों लोगों की जान बच गयी. दरअसल प्रशासन ने तीन दिन पहले ही घरों से लोगों को बाहर निकाल लिया था. बताया जा रहा है कि बस स्टैंड के पास और इमारतें भी गिरने की स्थिति में आ गयी हैं.

हिमाचल में भारी बारिश के बाद हुए भूस्खलन में 12 लोगों की मौत,शिमला समेत छह जिलों में ‘रेड अलर्ट’

हिमाचल प्रदेश में मंगलवार की रात में हुई भारी बारिश के बाद भूस्खलन की घटनाओं में 12 लोगों की मौत हो गई और कुछ मकानों के क्षतिग्रस्त होने के अलावा 400 से अधिक सड़कें अवरूद्ध हो गईं.

मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों के दौरान राज्य के 12 में से छह जिलों में भारी से भीषण बारिश और कुछ स्थानों पर अत्यधिक भीषणतम बारिश होने का अनुमान जताते हुए बुधवार को ‘रेड अलर्ट’ जारी किया. इस मॉनसून में भारी बारिश के तीन बड़े दौरों के बाद राज्य में कुल 709 सड़कें बंद हो गई हैं. भारी बारिश के कारण प्रदेश में बड़ पैमाने पर विनाश एवं मौत की घटनाएं हुई हैं.

सीएम सुक्खू ने लोगों को सतर्क रहने की अपील की

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने भारी बारिश के पूर्वानुमान को देखते हुए लोगों से सतर्क रहने की अपील की है. प्रदेश के शिमला, मंडी और सोलन जिलों में बुधवार से दो दिनों के लिए सभी स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं.

भूस्खलन में 12 लोगों की मौत इन इलाकों से हुई

हिमाचल प्रदेश में हुई 12 मौतों में से सात लोगों की मौत मंडी और शिमला में भूस्खलन के कारण हुई, इसके अलावा, बिजली का करंट लगने से तीन अन्य लोगों की मौत हुई, और राज्य के विभिन्न हिस्सों में डूबने और ऊंचाई से गिरने के कारण एक-एक व्यक्ति की मौत की सूचना मिली है. उपायुक्त अरिंदम चौधरी ने बताया कि मंडी जिले के सेराज क्षेत्र के दो गांवों में बादल फटने से हुए भूस्खलन में पांच लोगों की मौत हो गई है. मंडी जिले के सेराज के दगोल गांव में भूस्खलन में दो लोगों – परमानंद (62) और उनके पोते गोपी (14) – की मौत हो गई, जबकि अन्य तीन की सराची गांव में भूस्खलन में मौत हो गई. मलबे में कुछ और लोगों के दबे होने की आशंका है. इलाके में कुछ घर और एक स्कूल भी क्षतिग्रस्त हो गया.

बारिश के कारण घरों में आईं दरारें

बारिश के कारण शिमला शहर बुरी तरह प्रभावित हुआ, भूस्खलन और उखड़े पेड़ों के कारण मुख्य कार्ट रोड और साथ ही शिमला-मेहली बाईपास कई स्थानों पर अवरुद्ध हो गया. कई घरों में दरारें भी आ गई हैं और एहतियात के तौर पर लोगों को वहां से हटा दिया गया है. पुलिस अधीक्षक ने लोगों से अनावश्यक यात्रा नहीं करने का अनुरोध किया.

हिमाचल प्रदेश में इस महीने बारिश की वजह से अबतक 120 से अधिक लोगों की हो चुकी है मौत

इस महीने राज्य में बारिश से संबंधित घटनाओं में 120 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 24 जून को हिमाचल प्रदेश में मानसून की शुरुआत के बाद से कुल 238 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है और 40 लोग अब भी लापता हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.