Delhi: जंतर-मंतर में देर रात हाई वोल्टेज ड्रामा, पुलिस और पहलवानों के बीच झड़प, AAP विधायक हिरासत में

77

दिल्ली के के जंतर मंतर में बीती रात जमकर हंगामा हुआ, प्रदर्शन कर रहे पहलवानों ने पुलिस पर मारपीट का आरोप भी लगाया है, वहीं एक पहलवान के घायल होने की भी सूचना है. घटना के बाद पहलवानों के समर्थन में पहुंचे आप के मंत्री सौरभ भारद्वाज, दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल और विधायक कुलदीप समेत कई नेताओं को पुलिस ने हिरासत मे ले लिया.

फोल्डिंग बेड को लेकर हुआ हंगामा 

हंगामे की शुरुआत तब हुई जब पहलवानों के जंतर-मंतर पर चल रहे धरने में सोमनाथ भारती फोल्डिंग बेड लेकर पहुंचे. सोमनाथ भारती ने इसके लिए अनुमति नहीं ली थी. दिल्ली पुलिस ने इस पर उन्हें रोका. पुलिसकर्मियों की ओर से रोके जाने के बाद वहां मौजूद सोमनाथ भारती के समर्थक उत्तेजित हो गए और ट्रक से बेड निकालने की कोशिश करने लगे. इस दौरान पुलिस और सोमनाथ भारती के समर्थकों, पहलवानों में तीखी नोक-झोंक हुई. दिल्ली पुलिस ने दो अन्य लोगों के साथ सोमनाथ भारती को हिरासत में ले लिया है. इसे लेकर पहलवानों का कहना है कि पानी भरा है. सोने की जगह नहीं है. धर्मेंद्र (पुलिसकर्मी) धक्के मारने लगा. दूसरा पुलिस वाला ड्रिंक कर रहा. क्या ये दिन देखने के लिए मेडल लेकर आए थे.

बजरंग पूनिया ने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा

इधर, बजरंग पूनिया ने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा है. बजरंग पूनिया ने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर चार मांगें उनके सामने रखी हैं. बजरंग पूनिया ने गृह मंत्री से पहलवानों पर हमला करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने, वाटरप्रूफ टेंट लगाने की अनुमति देने की भी मांग की है, वहीं

विनेश फोगाट ने जानलेवा हमले की शिकायत की 

वहीं, महिला पहलवान विनेश फोगाट ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर को शिकायती पत्र लिखकर पुलिसकर्मियों पर जानलेवा हमला करने का आरोप लगाया है. विनेश ने पुलिस कमिश्नर से की गई अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि वरिष्ठ एसीपी धर्मेंद्र ने धरना दे रहे पहलवानों को जंतर-मंतर खाली करने के लिए भी धमकाया. विनेश ने वरिष्ठ एसीपी धर्मेंद्र पर खुद को भद्दी-भद्दी गालियां देने का भी आरोप लगाया है और पुलिस कमिश्नर से सभी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है.

समर्थन में जुट रहे किसानों को पुलिस ने रोका  

जंतर-मंतर पर आधी रात को पहलवानों के साथ हुई मारपीट की घटना से आक्रोशित किसान भी देर रात धरना स्थल के लिए निकल पड़े. भारतीय किसान यूनियन दिल्ली के अध्यक्ष कई किसान नेताओं और किसानों के साथ जंतर-मंतर जा रहे थे. जानकारी पर एक्टिव हुई दिल्ली पुलिस ने किसान नेताओं को धौला कुआं में ही रोक लिया. दिल्ली पुलिस ने सभी से लौट जाने के लिए कहा लेकिन जब किसान जंतर-मंतर जाने की बात पर अड़े रहे तब पुलिस ने इन सबको हिरासत में ले लिया.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.