Coronavirus: गुरुद्वारा मजनू का टीला में क्वारंटाइन सेंटर बनाने का प्रस्ताव, DSGPC ने लिखा पत्र

0 170

दिल्ली न्यूज़ 24 रिपोर्टर।ऑनलाइन डेस्‍क

पूरा देश इस समय कोरोना वायरस के संकट के खिलाफ ल़ड़ाई लड़ रहा है। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीपीसी) ने इस वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार के प्रयास की सराहना की है। इसके साथ ही कमेटी ने सरकार को हरसंभव सहयोग देने का फैसला किया है। सरकार के सामने गुरुद्वारा मजनू का टीला स्थित सराय को क्वारंटाइन सेंटर बनाने का प्रस्ताव भी रखा है। गरीबों को लंगर भी उपलब्ध कराया जा रहा है।

संक्रमण से पीडि़त लोगों की संख्या बढ़ रही है। एहतियात के तौर पर विदेश से आने वाले लोगों और संदिग्ध मरीजों को निगरानी में रखा जा रहा है। इसमें जगह की कमी न हो इसके लिए डीएसजीपीसी ने स्थान उपलब्ध कराने का फैसला किया है। इसे लेकर कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए कमेटी ने कई फैसले किए हैं।

गुरुद्वारा मजनू का टीला स्थित सराय में 25 कमरें हैं

श्री अकाल तख्त के आदेश के अनुसार, कमेटी ने क्वारंटाइन सेंटर के लिए सरकार को स्थान उपलब्ध कराने को तैयार है। गुरुद्वारा मजनू का टीला स्थित सराय में 25 कमरें हैं। यदि सरकार इसमें क्वारंटाइन सेंटर बनाती है और यहां मरीज रखे का जाते हैं तो उनकी देखभाल के लिए हर जरूरी कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली में लाक डाउन की वजह से गरीबों के रोजगार चले गए हैं। उन्हें अपने परिवार के भरण पोषण में दिक्कत हो रही है। प्रशासन की मांग के अनुसार लंगर उपलब्ध कराया जा रहा है।

गुरुद्वारा बंगला साहिब के नजदीक स्थित रैन बसेरा में भी लोगों को लंगर उपलब्ध कराया जा रहा है। इस चुनौती का सामना करने के लिए कमेटी दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार के साथ खड़ी है। एक जिम्मेदार संस्था होने के नाते और मानवता की सेवा के लिए गुरुओं के आदेश का पालन करते हुए किसी भी तरह की जरूरत को पूरा करने के लिए कमेटी तत्पर है।