‘भारत अब भी दोस्त, लेकिन हत्या की साजिश का आरोप बहुत गंभीर’, बोले जॉन किर्बी

4

Gurpatwant Pannun : ‘भारत अमेरिका का एक रणनीतिक साझेदार बना हुआ है और अमेरिका भारत के साथ साझेदारी को बेहतर बनाने और मजबूत करने के लिए काम करना जारी रखेगा, लेकिन हत्या की साजिश के आरोप बहुत गंभीर हैं’, यह बयान है व्हाइट हाउस के अधिकारी जॉन किर्बी का जिन्होंने एक निजी वार्ता में अपनी बात रखी है. गुरपतवंत सिंह पन्नू की ‘हत्या की साजिश’ में भारतीय नागरिक की संलिप्तता का आरोप लगा है. जॉन किर्बी ने यह भी कहा है कि हम इस आरोप और मामले की जांच को काफी गंभीरता से ले रहे है. साथ ही उन्होंने इस बात की खुशी जताई कि भारत ने इस मामले की जांच के लिए खुद एक समिति का गठन किया है.

अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि अमेरिकी धरती पर एक सिख अलगाववादी की हत्या की साजिश रचने में भारतीय अधिकारी के शामिल होने के आरोपों पर भारत की ओर से जांच कराया जाना उचित है. ब्लिंकन ने उनके साथ तेल अवीव में मौजूद पत्रकारों से कहा, ‘‘ सरकार ने आज घोषणा की है कि वह जांच करा रही है, तो यह अच्छा है और उचित है. हम जांच के परिणाम का इंतजार करेंगे.’’

बुधवार को अमेरिका में संघीय अभियोजकों ने आरोप लगाया कि भारत के एक व्यक्ति ने एक भारतीय सरकारी अधिकारी के साथ मिलकर सिख अलगाववादी गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या की साजिश रची थी जिसे नाकाम कर दिया गया था. ब्लिंकन इसी मामले में पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे.

उन्होंने कहा,‘‘ यह कानूनी मामला है. तो आप समझ सकते हैं कि मैं इस पर विस्तार से बातचीत नहीं कर सकता. मैं कह सकता हूं कि इसे हम बेहद गंभीरता से ले रहे हैं. हमने पिछले हफ्तों में भारत सरकार के सामने यह मुद्दा उठाया है.’’ सिख अलगाववादी गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या की नाकाम साजिश से जुड़े आरोपों की जांच के लिए भारत ने एक जांच दल बनाया है. ऐसा माना जाता है कि पन्नू के पास अमेरिका और कनाडा की नागरिकता है.

भारत ने अमेरिकी धरती पर एक सिख अलगाववादी की हत्या की साजिश रचने के आरोपी व्यक्ति के साथ एक भारतीय अधिकारी को अमेरिका द्वारा जोड़े जाने को बृहस्पतिवार को “चिंता का विषय” बताया. विदेश मंत्रालय ने कहा कि आरोपों की जांच के लिए गठित समिति के निष्कर्षों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी. सिख अलगाववादी गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या की नाकाम साजिश से जुड़े आरोपों की जांच के लिए भारत ने एक जांच दल गठित किया है.

ऐसा माना जाता है कि पन्नू के पास अमेरिका और कनाडा की नागरिकता है. बुधवार को अमेरिका में संघीय अभियोजकों ने आरोप लगाया कि निखिल गुप्ता नाम के व्यक्ति ने एक भारतीय सरकारी कर्मचारी के साथ मिलकर पन्नू की हत्या की साजिश रची थी जिसे नाकाम कर दिया गया था.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.