रेमंड ग्रुप के मालिक की बढ़ी परेशानी, नवाज मोदी ने लगाया कई गंभीर आरोप,गौतम ने कर्मचारियों को लिखा भावुक ई-मेल

5

रेमंड (Raymond) के अरबपति चेयरमैन गौतम सिंघानिया (Gautam Singhania) अपनी पत्नी के साथ विवाद को लेकर परेशानियों में घिरते हुए नजर आ रहे हैं. उनकी पत्नी नवाज मोदी लगातार उनपर, गंभीर आरोप लगा रही है. पिछले हफ्ते, इंडिया टुडे के साथ एक साक्षात्कार में, नवाज मोदी ने अपने पति पर गौतम सिंघानिया उनके जन्मदिन के अगले दिन यानी 10 सितंबर को उनके और उनकी बेटी निहारिका सिंघानिया के साथ कथित तौर पर मारपीट करने का आरोप लगाया था. साथ ही, उन्होंने अपने पति को अंगूठा छाप भी बताया है. इस बीच, नवाज मोदी ने दावा किया है कि उन्होंने उन्हें भोजन और पानी के बिना तिरुमाला तिरुपति मंदिर तक ट्रेकिंग करने के लिए मजबूर किया. हाल ही में सामने आए एक ऑडियो क्लिप में, नवाज मोदी ने गौतम सिंघानिया के कथित तौर पर ट्रेक पर जोर देने का विवरण दिया है और इसे उनकी शादी के दौरान की गई प्रतिज्ञा से जोड़ा है. उनका तर्क है कि भगवान वेंकटेश्वर के एक समर्पित अनुयायी गौतम सिंघानिया ने उनसे बिना भोजन या पानी के आंध्र प्रदेश के तिरुमाला में पवित्र पहाड़ी पर चढ़ने की मांग की.

क्या है नवाज मोदी का नया आरोप

गौतम सिंघानिया तिरूपति मंदिर के देवता भगवान वेंकटेश्वर के भक्ति हैं. उन्होंने मुंबई में एक नए मंदिर के निर्माण के लिए 100 करोड़ रुपये का योगदान दिया है. इसके साथ ही, मंदिर बोर्ड तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम के तहत शैक्षणिक संस्थानों की भी मदद करते हैं. तिरुमाला में पवित्र पहाड़ी पर चढ़ने के लेकर, नवाज मोदी ने कहा कि उन्होंने मुझे वे सभी सीढ़ियां चलने को कहा. मुझे नहीं पता कि कितनी सीढ़ियां हैं, लेकिन मैं बिना भोजन, पानी, कुछ भी लिए पूरे रास्ते तिरूपति तक चली. रास्ते में मैं लगभग दो या तीन बार बेहोश हो गयी. उसने फिर भी मुझे चलने के लिए मजबूर किया. बता दें कि गौतम सिंघानिया की पत्नी नवाज मोदी ने अलग होने के समझौते के हिस्से के रूप में 1.4 बिलियन अमेरिकी डॉलर की संपत्ति का 75% हिस्सा मांगा है. नवाज मोदी की मांग का सीधा असर रेमंड के शेयर की कीमत पर पड़ा क्योंकि पिछले पांच कारोबारी सत्रों में कंपनी का शेयर 8% गिर गया. इस बीच, गौतम सिंघानिया के पिता विजयपत सिंघानिया ने कहा कि रेमंड का नाम आखिरकार इस पर निर्भर करेगा कि शेयरधारक और बैंकर इसे कैसे देखते हैं.

गौतम ने क्या किया ई-मेल

पारिवारिक विवाद में फंसे रेमंड के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक गौतम सिंघानिया ने अपने कर्मचारियों और निदेशक मंडल को कामकाज सामान्य ढंग से चलने का आश्वासन देते हुए कहा है कि वह इसके सुचारू संचालन के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं. कुछ दिनों पहले पत्नी नवाज से अलग होने की घोषणा करने वाले जाने-माने उद्यमी सिंघानिया ने रेमंड के निदेशक मंडल के सदस्यों और कर्मचारियों को भेजे गए एक आंतरिक ईमेल में अपनी प्रतिबद्धता जताई है. उन्होंने ईमेल में कहा है कि उन्होंने अपनी निजी जिंदगी के बारे में आ रही मीडिया रिपोर्टों पर टिप्पणी नहीं करने का फैसला किया है. अपने परिवार की गरिमा बनाए रखना मेरे लिए सबसे ऊपर है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रेमंड के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक के तौर पर वह कंपनी के सुचारू संचालन और इसके कारोबार के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं. उन्होंने कहा, “इस मुश्किल दौर में भी मैं आपको यकीन दिलाता हूं कि रेमंड के भीतर सामान्य ढंग से ही कामकाज चल रहा है. सिंघानिया ने कारोबार के मोर्चे पर रेमंड के शानदार प्रदर्शन का जिक्र करते हुए कहा है कि पिछली तिमाही कंपनी के इतिहास में सबसे अच्छी रही है. उन्होंने कहा कि मैं अपने सभी शेयरधारकों के लिए मूल्य निर्माण और वितरण के साथ अपने कर्मचारियों, ग्राहकों और अन्य हितधारकों के हितों को सुनिश्चित करने के लिए संकल्पबद्ध हूं. इस बारे में संपर्क किए जाने पर रेमंड के एक प्रवक्ता ने कहा कि सिंघानिया ने यह ईमेल कंपनी के निदेशक मंडल के सदस्यों और कर्मचारियों को आंतरिक स्तर पर भेजा है. सिंघानिया ने महीने की शुरुआत में पत्नी नवाज से अलग होने की घोषणा की थी. इसके पहले इस 32 साल पुरानी शादी के भविष्य को लेकर अटकलें लगाई जा रही थीं. इस दंपती की दो संतानें हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.