गौतम गंभीर ने दिनेश कार्तिक के कप्तानी छोड़ने के फैसले की आलोचना की, कहा- सुुधर गई क्या बल्लेबाजी

0 61

KKR vs CSK IPL 2020: कोलकाता नाइट राइडर्स को आइपीएल 2020 मेंं गुरुवार को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ खेले गए मुकाबले में हार मिली और इसके बाद इस टीम के प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदों को झटका लगा है। सीएसके से मिली हार के बाद एक बार फिर से केकेआर टीम मैनेजमेंट पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं कि सीजन के मध्य में कप्तान क्यों बदला गया तो वहीं गौतम गंभीर ने भी दिनेश कार्तिक के कप्तानी छोड़ने के इस फैसले की आलोचना की ।

केकेआर ने इस सीजन के अपने आधे मुकाबले खत्म होने के बाद घोषणा की थी कि दिनेश कार्तिक ने कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है और इससे इयोन मोर्गन के कप्तान बनने का रास्ता साफ हो गया था। जब कार्तिक ने कप्तानी छोड़ी थी तब केकेआर अंक तालिका में चौथे नंबर पर थी। कार्तिक ने कप्तानी छोड़ने का फैसला अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान केंद्रित करने के लिए किया था, लेकिन केकेआर के पूर्व कप्तान गंभीर के लिए इन सब बातों का कोई मतलब नहीं था।

गौतम गंभीर ने एक अंग्रेजी साइट बात करते हुए कहा कि, ये सिर्फ आपकी मानसिकता को दिखाता है। उन्होंने कहा कि कार्तिक ने कप्तानी छोड़ी क्योंकि वो अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान देना चाहते थे, लेकिन ये काम नहीं कर पाया। कभी-कभी ये अच्छा होता है कि आप जिम्मेदारी लेते हैं। जब मैं साल 2014 में काफी खराब फेज में था तब मैं तीन बार लगातार डक पर आउट हुआ और तब सीजन कि शुरुआत हुई थी। इसके बाद मेरी कप्तानी की वजह ही मैं अपनी फॉर्म में वापसी कर पाया यानी अपनी जिम्मेदारी के कारण ही मैं वापसी कर पाया।

गंभीर ने अपना उदाहरण देते हुए कहा कि, अपनी कप्तानी के समय भी वो काफी मुश्किल दौर से गुजरे थे और उन्होंने ये भी बताया कि कैसे कार्तिक भी इससे बाहर आ सकते थे। उन्होंने कहा कि जब मैं बल्लेबाजी नहीं कर पा रहा था तब ये सोचता था कि कप्तान के तौर पर किस तरह के फैसले करूं जिससे कि टीम को जीत मिले, लेकिन जब आप कप्तानी नहीं कर रहे हैं तो आप अपनी बल्लेबाजी के बारे में ज्यादा सोचते हैं।

हालांकि केकेआर अभी पूरी तरह से प्लेऑफ की होड़ से बाहर नहीं हुई है, लेकिन उसे आखिरी मैच जीता होगा और ये मानना होगा पंजाब अपने अगले दोनों मुकाबले हार जाए। केकेआर को रविवार को अपना आखिरी लीग मुकाबला राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेलना है।