G20 Summit: दिल्ली की सुरक्षा चाक-चौबंद, परिंदे भी नहीं मार सकेंगे पर, 5000 तीसरी आंख की होगी नजर

22

दिल्ली के प्रगति मैदान स्थित भारत मंडपम में 9 और 10 सितंबर को जी20 शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा. इसके लिए तैयारियों को आखिरी रूप दे दिया गया है. सुरक्षा और ट्रैफिक की अलग से व्यवस्था की गयी है. दिल्ली की सुरक्षा चाक-चौबंद कर दी गयी है.

पांच हजार सीसीटीवी कैमरों से रखी जाएगी दिल्ली पर नजर

दिल्ली पुलिस अपने नियंत्रण कक्ष से पांच हजार सीसीटीवी कैमरों के नेटवर्क के जरिये जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान शहर और इसकी सड़कों पर कड़ी नजर रखेगी. पुलिस के अनुसार नियंत्रण कक्ष को सीसीटीवी कैमरों की जिलेवार फुटेज मिल रही हैं. उसने कहा कि दो टीम चौबीस घंटे की पाली में फुटेज की निगरानी करेगी. एक पुलिस अधिकारी ने कहा, दिल्ली पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा ने उपराज्यपाल को सुरक्षा तैयारियों और नियंत्रण कक्ष के विवरण के बारे में जानकारी दी, जहां शहर के विभिन्न हिस्सों में स्थापित 5,000 से अधिक सीसीटीवी द्वारा ली गई फुटेज प्राप्त होगी.

दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने तैयारियों का लिया जायजा

दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने नौ से 10 सितंबर तक होने वाले शिखर सम्मेलन की विभिन्न तैयारियों का जायजा लेने के लिए दिन के दौरान राजघाट और प्रगति मैदान का दौरा किया. दिल्ली पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा ने बताया, 25 सुरक्षाकर्मियों वाली दो टीम 24 घंटे नियंत्रण कक्ष में प्रसारित होने वाली डिजिटल सूचनाओं की निगरानी करेंगी.

विशेष कमान कक्ष भी स्थापित किया गया

अधिकारी ने कहा कि शहर में घटनाक्रम की निगरानी के लिए 30 वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के लिए एक विशेष कमान कक्ष भी स्थापित किया गया है. जी-20 शिखर सम्मेलन प्रगति मैदान में नवनिर्मित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन और प्रदर्शनी केंद्र ‘भारत मंडपम’ में आयोजित किया जायेगा. दिल्ली पुलिस ने शिखर सम्मेलन के लिए पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की है और कई सुरक्षा एजेंसियों के साथ समन्वय कर रही है.

19 निशानेबाजों को भी शहर के कई स्थानों पर किया जाएगा तैनात

इसे भारतीय वायु सेना और राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) और कुछ केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) जैसी विशेष केंद्रीय एजेंसियों द्वारा सहायता प्रदान की जा रही है. अधिकारियों ने बताया कि भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) द्वारा आयोजित चार सप्ताह के विशेष प्रशिक्षण सत्र को पूरा करने वाली कुल 19 निशानेबाजों को भी शहर के रणनीतिक स्थानों पर शिखर सम्मेलन के दौरान तैनात किया जायेगा. उन्होंने कहा कि इसके अलावा, अग्निशमनकर्मियों और एम्बुलेंस के साथ 400 से अधिक त्वरित प्रतिक्रिया दल (क्यूआरटी) को रणनीतिक स्थानों पर तैनात किया जा रहा है.

दिल्ली पुलिस के शीर्ष अधिकारी ने सीमावर्ती इलाकों का निरीक्षण किया

दिल्ली पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने गुरुवार को जी20 शिखर सम्मेलन से पहले राष्ट्रीय राजधानी के सीमावर्ती इलाकों में सुरक्षा तैयारियों का जायजा लिया. शिखर सम्मेलन में 30 से अधिक राष्ट्राध्यक्षों, यूरोपीय संघ के शीर्ष अधिकारियों, आमंत्रित अतिथि देशों और 14 अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रमुखों के हिस्सा लेने की संभावना है. विशेष पुलिस आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) दीपेंद्र पाठक ने कहा कि पुलिस यह सुनिश्चित कर रही है कि शिखर सम्मेलन के दौरान कानून और व्यवस्था पुख्ता रहे. उन्होंने कहा, दिल्ली पुलिस का एक वर्ग जी20 शिखर सम्मेलन क्षेत्र में तैयारियों की निगरानी कर रहा है. कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए पूरी दिल्ली में सुरक्षाकर्मियों की पर्याप्त और रणनीतिक तैनाती की गई है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.