G20 Summit: जी 20 शिखर सम्मेलन के लिए दिल्ली पूरी तरह तैयार, LG ने तैयारियों का लिया जायजा

8

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के प्रगति मैदान के अंतरराष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर में नौ और 10 सितंबर को जी 20 शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है. जिसके लिए तैयारियां लगभग पूरी कर ली गयीं हैं. इस बीच रविवार को दिल्ली के उपराज्यपाल वी के सक्सेना और प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव पीके मिश्रा समेत विभिन्न वरिष्ठ सरकारी पदाधिकारियों ने रविवार को तैयारियों का जायजा लेने के लिए आगामी जी20 शिखर बैठक से संबंधित प्रमुख स्थलों का दौरा किया.

प्रमुख कार्यक्रम स्थल भारत मंडपम का भी अधिकारियों ने लिया जायजा

जनता को असुविधा कम हो, इसके लिए वे प्रमुख स्थलों के दौरे के लिए दो मिनी बसों में बैठकर मौके पर पहुंचे. अधिकारियों ने भारत मंडपम का दौरा किया. भारत मंडपम प्रमुख सम्मेलन केंद्र है जहां जी 20 समूह की बैठकें होंगी. अधिकारियों ने बताया कि इसके अलावा शीर्ष अधिकारियों ने पालम तकनीकी क्षेत्र और उस क्षेत्र आस-पास के कुछ इलाकों का भी दौरा किया जहां से विदेशी प्रतिनिधि यात्रा करेंगे.

जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान लुटियंस दिल्ली में बसों की आवाजाही रहेगी बंद

दिल्ली यातायात पुलिस ने दो दिवसीय जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान लोगों को लुटियंस दिल्ली में आवाजाही के लिए मेट्रो का इस्तेमाल करने की सलाह दी. सम्मेलन के मद्देनजर इस इलाके में बसों की आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी. प्रतिबंध का यह आदेश सात सितंबर की मध्यरात्रि से 10 सितंबर की मध्यरात्रि तक लागू रहेगा. यातायात पुलिस के विशेष आयुक्त एस एस यादव ने कहा एंबुलेंस या आवश्यक सेवाओं की आवाजाही पर कोई असर नहीं पड़ेगा. हालांकि, नई दिल्ली क्षेत्र में बसों के संचालन पर प्रतिबंध रहेगा लेकिन दिल्ली मेट्रो पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा. जनता को सलाह दी जाती है कि वे अपने गंतव्य तक आने-जाने के लिए मेट्रो का उपयोग करें. उन्होंने कहा, दिल्ली हवाईअड्डे से लुटियंस दिल्ली आ रहे लोगों को पहचान पत्रों के उचित सत्यापन के बाद ही प्रवेश की अनुमति दी जाएगी.

यातायात व्यवस्था के लिए 10 हजार पुलिस कर्मी तैनात

दिल्ली में आयोजित होने वाले शिखर सम्मेलन के दौरान शहर में निर्बाध यातायात व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए 10,000 पुलिस कर्मी तैनात रहेंगे.

दिल्ली में कचरा फेंके जाने के लिहाज से संवेदनशील 11 हजार से अधिक जगहों की सफाई : महापौर

दिल्ली नगर निकाय ने कचरा फेंके जाने के लिहाज से संवेदनशील 11,000 से अधिक स्थानों की पहचान की और उन्हें साफ किया तथा जी20 शिखर सम्मेलन की तैयारियों के मद्देनजर सभी वार्डों में लार्वा रोधी छिड़काव भी किया जा रहा है. दिल्ली की महापौर शैली ओबेरॉय ने कहा कि पॉश होटलों, पर्यटक आकर्षणों और शहर के हवाई अड्डे से सटे इलाकों को साफ करने के लिए दल गठित किए गए हैं. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली, शिखर सम्मेलन के लिए मेहमानों का स्वागत करने के लिए तैयार है. ओबेरॉय ने कहा कि कचरा फेंके जाने के लिहाज से संवेदनशील 11,200-11,300 स्थानों की पहचान की गई और उन्हें साफ किया गया तथा अब उन स्थानों का सौंदर्यीकरण किया जा रहा है.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.