FMCG कंपनियों ने जारी किए तिमाही के आंकड़े, सिंगल डिजिट ग्रोथ की उम्मीद, आज कंपनियों के शेयर में दिखेगा एक्शन

14

दैनिक उपभोग का सामान (FMCG) बनाने वाली अग्रणी कंपनियां अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में सालाना आधार पर एक अंकीय वृद्धि की उम्मीद कर रही हैं. तिमाही आधार पर उपभोक्ता मांग में सुधार हुआ है, जिसके चलते एफएमसीजी कंपनियों को अक्टूबर-दिसंबर में निम्न से मध्य एक अंकीय वृद्धि की उम्मीद है. डाबर, मैरिको और गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट्स जैसी प्रमुख सूचीबद्ध कंपनियों ने अपने तिमाही आंकड़ों को जारी करते हुए कहा है कि ग्रामीण बाजार में उपभोक्ता मांग कम रही है, हालांकि शहरी बाजार तीसरी तिमाही में स्थिर रहे. कंपनियां धीरे-धीरे बढ़ोतरी को लेकर आशान्वित हैं क्योंकि मात्रा में सुधार के रुझान के साथ खपत में सुधार के शुरुआती संकेत दिखाई दे रहे हैं. इसके अलावा, निर्माताओं को सालाना आधार पर सकल मार्जिन में विस्तार की भी उम्मीद है. इसमें मुद्रास्फीति में कमी से मदद मिलेगी. खोपरा और खाद्य तेल की कीमतें जैसे प्रमुख सामग्री की कीमतें निचले स्तर पर बनी हुई हैं. इससे एफएमसीजी निर्माताओं को विज्ञापन और प्रचार के लिए अधिक धन जुटाने में मदद मिलेगी.

सफोला, पैराशूट, हेयर एंड केयर, निहार और लिवॉन जैसे ब्रांड की मूल कंपनी मैरिको ने कहा कि दिसंबर तिमाही में ग्रामीण बाजार से अच्छे संकेत कुछ कम मिले. हालांकि, यह व्यापक आर्थिक संकेतकों में सुधार, निरंतर सरकारी खर्च, विभिन्न क्षेत्रों में अनुकूल उपभोक्ता मूल्य निर्धारण और अन्य कारकों के कारण 2024 में उपभोग प्रवृत्तियों में क्रमिक वृद्धि के बारे में आशावादी बनी हुई है. डाबर इंडिया को उम्मीद है कि उसके एकीकृत राजस्व में चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के दौरान “मध्य से उच्च एकल-अंकीय वृद्धि दर्ज की जाएगी.” ग्रामीण भारत देश में एफएमसीजी बिक्री में लगभग 35 से 38 प्रतिशत का योगदान देता है.

डाबर च्यवनप्राश, डाबर हनी, डाबर पुदीन हारा, डाबर आंवला, रियल और वाटिका सहित विभिन्न ब्रांड वाली घरेलू एफएमसीजी विनिर्माता ने कहा कि आधार वर्ष में कीमत बढ़ने के कारण मूल्य वृद्धि धीमी रही. दिसंबर तिमाही में वृद्धि में मुख्य योगदान मात्रा का रहा. इसी तरह, गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (जीसीपीएल) ने कहा कि वह दिसंबर तिमाही में एकीकृत आधार पर एकल अंक की वृद्धि की उम्मीद कर रही है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी भारतीय एफएमसीजी कंपनियों को स्थिर मुद्रा के आधार पर एक अंकीय वृद्धि की उम्मीद है.

(भाषा इनपुट के साथ)

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.