Farmers Protest: सरकार और किसान नेताओं के बीच कल होगी तीसरे दौर की बातचीत, केंद्र के रवैये पर उठाया सवाल

5

दिल्ली के विभिन्न बॉर्डरों पर किसान आंदोलन लगातार दूसरे दिन जारी है. बुधवार को भी सुरक्षाकर्मियों के साथ किसानों की झड़प हुई. इस बीच खबर है कि किसान संगठन और केंद्र सरकार के बीच गुरुवार को तीसरे दौर की बातचीत होगी. बैठक गुरुवार की शाम 5 बजे रखी गई है. किसान नेताओं ने बताया कि वार्ता के लिए सरकार की ओर से चिट्ठी मिली है, जिसके लिए वो तैयार हैं. मालूम हो सैकड़ों की संख्या में किसान अपनी मांगों को लेकर दिल्ली के विभिन्न बॉर्डर पर जमे हुए हैं. प्रदर्शन के दूसरे दिन बुधवार को भी किसान दिल्ली मार्च के लिए पंजाब-हरियाणा की दो सीमाओं पर डटे रहे. पंजाब के प्रदर्शनकारी किसानों ने हरियाणा की सीमा पर बैरिकेड हटाने का नये सिरे से प्रयास किया.

किसान संगठन ने केंद्र सरकार के रवैये पर उठाया सवाल

पंजाब किसान मजदूर संघर्ष समिति के महासचिव सरवन सिंह पंढेर ने कहा, केंद्र के साथ बैठक कल शाम 5 बजे होगी. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, अगर केंद्र कोई हल करे, तो हम हल के तैयार हैं. हम टकराव नहीं चाहते हैं. बातचीत के लिए हम शांति के साथ बैठेंगे. इस दौरान किसान नेताओं ने केंद्र सरकार के रवैये पर भी सवाल उठाया और पुलिस कार्रवाई को गलत बताया. किसानों ने कहा, अर्धसैनिक बलों की तैनाती क्यों की गई है.

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, पीयूष गोयल और नित्यानंद राय कर रहे किसानों से बात

प्रदर्शनकारी किसानों से बात करने के लिए केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, पीयूष गोयल और नित्यानंद राय को लगाया गया है. इससे पहले केंद्रीय मंत्रियों ने संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक), किसान मजदूर मोर्चा समेत किसान संगठनों के नेताओं के साथ चंडीगढ़ में दो दौर की बैठक की थी लेकिन बातचीत बेनतीजा रही और किसानों ने मंगलवार को ‘दिल्ली चलो’ मार्च शुरू कर दिया.

कृषि मंत्री अर्जुन बोले- एमएसपी की गारंटी देने वाला कानून जल्दबाजी में नहीं लाया जा सकता

किसान आंदोलन के बीच केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने मंगलवार को कहा था कि एमएसपी की गारंटी देने वाला कानून सभी हितधारकों से विचार-विमर्श किए बिना जल्दबाजी में नहीं लाया जा सकता। इसके साथ ही उन्होंने किसान संगठनों से इस मुद्दे पर सरकार के साथ रचनात्मक चर्चा करने की अपील की. मुंडा ने कहा, दो दौर की चर्चा में हम उनकी कई मांगों पर सहमत हुए. लेकिन कुछ मुद्दों पर सहमति नहीं बन पाई. बातचीत अभी भी जारी है.

दिल्ली मार्च पर लगातार दूसरे दिन दंगल जारी

हजारों की संख्या में किसान बुधवार सुबह एक बार फिर अपना ‘दिल्ली चलो’ मार्च शुरू करने के लिए पंजाब-हरियाणा की दो सीमाओं पर डटे रहे. वहीं, अंबाला के पास शंभू बॉर्डर पर प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए हरियाणा पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे. पुलिस ने हरियाणा के जींद जिले में दाता सिंहवाला-खनौरी बॉर्डर पर भी आंसू गैस के गोले दागे. पुलिस ने किसानों के ट्रैक्टर को रोकने के लिए भारी संख्या में अवरोधक लगाए हैं. पंजाब के प्रदर्शनकारी किसानों ने हरियाणा की सीमा पर अवरोधक हटाने का नए सिरे से प्रयास किया. ‘दिल्ली चलो’ मार्च में भाग लेने के लिए पंजाब के कई स्थानों से किसानों का आना जारी है. पंजाब की ओर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बड़ी संख्या में ट्रैक्टर-ट्रॉली खड़ी देखी जा सकती हैं.

Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.